Friday, July 23, 2021

Opinion – लोग लॉकडाऊन नहीं , नरेंद्र मोदी को फेल करने में लगे हैं

पुलिस अधीक्षक द्वारा की गयी मासिक अपराध गोष्ठी में अपराधों की समीक्षा व रोकथाम हेतु दिये गये आवश्यक दिशा-निर्देश

Maharajganj: पुलिस अधीक्षक महराजगंज प्रदीप गुप्ता द्वारा आज दिनांक 17.07.2021 को पुलिस लाइन्स स्थित सभागार में मासिक अपराध गोष्ठी में कानून-व्यवस्था की...

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...

Maharajganj: CO सुनील दत्त दूबे द्वारा कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस महानिदेशक जोन गोरखपुर ने प्रशस्ति पत्र से नवाजा।

Maharajganj/Farenda: सीओ फरेन्दा सुनील दत्त दूबे को थाना पुरन्दरपुर में नवीन बीट प्रणाली के क्रियान्वयन में कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस...

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...

महराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतर्गत SBI कृषि विकास शाखा के सामने से मोटरसाइकिल चोरी

Maharajganj: महाराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतगर्त मंगलवार को बृजमनगंज रोड पर भारतीय स्टेट बैंक कृषि विकास शाखा के ठीक...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

कुछ लोग अटकल लगा रहे हैं कि कल के संदेश में नरेंद्र मोदी इमरजेंसी लगाने की घोषणा कर सकते हैं। पर मेरा कहना है कि इतनी हिम्मत ? और नरेंद्र मोदी ? तौबा-तौबा ! कायर हो चुके हैं अब श्रीमान नरेंद्र मोदी। नमाज की एक अजान सुन कर ही वह कांपने लगते हैं। और यह जो लोग पुलिस पर पत्थर मारते हैं न , पुलिस पर नहीं , नरेंद्र मोदी पर पत्थर मार रहे होते हैं। जो लोग इन दिनों जगह-जगह डाक्टरों पर थूक रहे हैं न , वह लोग डाक्टरों पर नहीं , नरेंद्र मोदी पर थूक रहे होते हैं। गाज़ियाबाद अस्पताल में अगर कोरोना पॉजिटिव पैंट उतर कर नंगे घूम रहे हैं। अश्लील गाने गए रहे हैं। नर्सों से अश्लील हरकतें कर रहे हैं। सी एम ओ , गाज़ियाबाद द्वारा इस बाबत डी एम , गाज़ियाबाद को लिखी चिट्ठी वायरल है। तो यह अश्लील हरकत यह लोग नरेंद्र मोदी के साथ कर रहे हैं।

आप मानिए , न मानिए। पर आज का क्रूरतम सच यही है। भारत और इंडिया की खाई फांद कर यह नया मुस्लिम भारत है। भारत का यह अराजक पाकिस्तानीकरण है। तालिबानीकरण है। यह अनायास नहीं है कि लोग कसम खा कर खुल्ल्मखुल्ला कहते फिर रहे हैं कि हम तो पूरे मुल्क में कोरोना फैलाएंगे। तो यह आसान नहीं है। यह नरेंद्र मोदी का फेल्योर है। बहुत बड़ा फेल्योर। लोग लॉक डाऊन नहीं , नरेंद्र मोदी को फेल करने में लगे हैं , अपनी जान पर खेल कर। मुस्लिम भारत का यही नंगा सच है। निजामुद्दीन , मरकज का मौलाना मोहम्मद साद कंधलावी अकेला नहीं है। लाखो मौलाना उस के साथ कंधे से कंधा मिला कर खड़े हैं। 15 करोड़ , अब सवा सौ करोड़ पर भारी हैं। शाहीनबाग का प्रयोग अब पूरे देश में तारी है। कोरोना की महामारी में असग़र वजाहत जैसे लेखक अपना लीगी चश्मा पहन कर चुप हैं। अपने नाम की कथा लिख रहे हैं। इस खतरे पर नहीं। मुनव्वर राना जैसे लीगी शायर , जावेद अख्तर जैसे 786 के तलबगार भी मोहम्मद साद जैसों के कारनामों पर खामोश हैं।

ये भी पढ़े :  सिर्फ 48 घंटे में कोरोना का इलाज, रिसर्च में वायरस को मारने का दावा
ये भी पढ़े :  CoronaVirus: रक्षामंत्री ने तीनों सेनाओं के प्रमुखों के साथ की उच्चस्तरीय बैठक, तैयारियां दोगुनी करने को कहा

हर शहर के मस्जिदों से विदेशी लोग कैसे और कितने निकल रहे हैं , यह भी देखने की बात है। कोरोना फैलाना ही इन का मकसद है। और डरपोक मोदी बस अपील दर अपील में संलग्न हैं। ज़रूरत इंदिरा गांधी जैसी किसी लौह महिला की है जो अपनी सख्ती के बुलडोजर तले इस कदर कुचल दे कि यह लोग थूकने लायक न रहें। थूकें भी तो इन्हें अपना थूक चटवाने का हुनर नहीं जानते नरेंद्र मोदी। तकलीफ इसी बात की है। कोरोना कर्मवीरों के लिए थाली , घंटी , शंख बजाने , बजवाने लोग डाक्टरों पर थूकना आखिर बर्दाश्त कर किस के डर से कर रहे हैं।

पहले चीन पर गुस्सा आता था कि 30 लाख उइगर मुसलामानों को नज़रबंद क्यों रखे हुए है। सारे कब्रिस्तान , सारे मजार और सारे मस्जिद क्यों तोड़ दिए हैं। बुरका , दाढ़ी , और सार्वजनिक नमाज पर प्रतिबंध क्यों लगा रखा है पूरे चीन में। अब भारत में कोरोना को ले कर भारत में नमाजियों ने जो रुख अख्तियार किया है , उसे देख कर लगता है कि भारत सरकार को भी सारे खतरे मोल ले कर भी चीन सरकार को फॉलो कर लेना चाहिए। कोरोना , कोरोना है , पोलियो नहीं। सी ए ए नहीं। कोरोना परस्त यह नमाजी लोग चीन के उइगर मुसलमानों की तरह सख्त नज़रबंदी के तलबगार हैं। किसी रियायत के नहीं।

देश बड़ा कि धर्म ! वर्तमान परिदृश्य कहता है धर्म ! अगर आप मुस्लिम हैं तो आप देश के नागरिक नहीं , देश के दामाद हैं । इन की कोई भी बात नहीं मानी गई तो यह देश जला देंगे। इसी लिए विभिन्न सरकारें इन से डरती हैं। यह सुप्रीम कोर्ट , संसद और क़ानून सब से ऊपर हैं । मामले तमाम हैं। पर ताज़ा मामला कोरोना का देखा जा सकता है। यह लोग इलाज कर रहे डाक्टर पर थूक सकते हैं। डाक्टर को दौड़ा-दौड़ा कर पीट सकते हैं। पत्थरबाजी कर सकते हैं। मस्जिदों में विदेशियों को ठहरा सकते हैं। कोरोना फैलाने का लाइसेंस इन के पास है ही। यह कुछ भी कर सकते हैं। कोई सरकार , कोई पुलिस इन का कुछ नहीं कर सकती। कर सकती हो तो आप बताइए भी भला। देश के कायर बुद्धिजीवी , लेखक , पत्रकार आदि सर्वदा इन के साथ खड़े मिलेंगे । देश को बांटने और जलाने में इन के आनंद के क्या कहने । रही बात राजनीतिज्ञों की तो इन की तो यह धर्म ही खुराक हैं ।

ये भी पढ़े :  कौड़ीराम में युवा लगातार कर रहे हैं असहायों की मदद, भूखों को मिल रहा सहारा
ये भी पढ़े :  ब्राह्मणों में गहराता जा रहा है भाजपा व योगी सरकार के खिलाफ रोष,जल्द ही ना की गई सोशल इंजीनियरिंग तो 2022 में उठाने पड़ सकते है गम्भीर परिणाम…..

अंगरेज भारत आए। भारत को गुलाम बनाया। जुल्म भी बहुत किए। उन को भगाया भी गया। लेकिन एक बार यह भी सोच कर देखिए कि अंगरेज अगर भारत न आए होते तो भारत का क्या हाल हुआ होता ? तय मानिए मुगलिया सल्तनत ने अपनी सनक में इंशा अल्ला , समूचे भारत को तालिबान में कनवर्ट कर दिया होता। सांस नहीं ले पाते आप। शुक्रिया अदा कीजिए अंगरेजों का एक बार कि जैसे भी , गुलाम बना कर ही सही , आप को तालिबानियों के जबड़े में जाने से बचा लिया। नहीं आप भी , जबरिया ही सही इस्लाम क़ुबूल कर अठारहवीं सदी में बिलख-बिलख कर जी रहे होते। जैसे कि अफगानिस्तान। आप भी अपनी सेवा करने वाले डाक्टरों पर थूक रहे होते। पुलिस पर पत्थर बरसा रहे होते। पूरे मुल्क में कोरोना फ़ैलाने की कसम खा रहे होते। शुक्र है कि आप इस सब से बच गए।

(वरिष्ठ पत्रकार दयानंद पांडेय जी का लेख, ये लेखक के निजी विचार हैं)

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...

ब्लाक प्रमुख चुनाव परिणाम: भाजपा के परिवारवाद का डंका, इन मंत्रियों और विधायकों के बहू-बेटे निर्विरोध जीते

लखनऊ: देश की राजनीति में परिवारवाद की जड़ें काफी गहरी हैं। कश्मीर से कन्याकुमारी तक वंशवाद और परिवारवाद की जड़ें और भी...

शिवपाल यादव ने दी भतीजे अखिलेश यादव को नसीहत, बोले- प्रदर्शन नहीं, जेपी-अन्ना की तरह करें आंदोलन

Lucknow: लखीमपुर में महिला प्रत्याशी से अभद्रता की कटु निंदा करते हुए प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने...
%d bloggers like this: