- Advertisement -
n
n
Tuesday, May 26, 2020

BREAKING: गोरखपुर सामुदायिक संक्रमण का ख़तरा बढ़ा, 200 से ज़्यादा लोगो के संपर्क में आये थे जमाती।

Views
Gorakhpur Times | गोरखपुर टाइम्स

गोरखपुर तब्लीगी जमात मरकज़ से लौटे जमातियों के कारण गोरखपुर में संक्रमण का खतरा बहुत बढ़ गया हैं। प्रशासन के अनुसार जमातियों के संपर्क में 200 से ज़्यादा लोग आए जिन्हें अब तक चिन्ह्ति किया जा चुका हैं। पुलिस की टीम उन्हें ढूंढने में लगी हुई है ताकि जल्द से जल्द क्वारंटाइन किया जा सके।

शासन को भेजी गई सूची

गोरखपुर के आसपास के जिलों के काफी लोग तब्लीगी जमात के मरकज में शामिल होने गए थे। वहां से लौटे महराजगंज जिले के छह लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए। इसके बाद किसी भी माध्यम से जमातियों के संपर्क में आए लोगों की तलाश की जा रही है। जमातियों के संपर्क में आने वाले चिह्नित किए गए लोगों की सूची शासन को भी भेजी गई है। कोविड-19 टीम के प्रभारी सीओ क्राइम प्रवीण सिंह ने बताया कि चिह्नित किए गए एक-एक व्यक्ति की काल डिटेल और टावर लोकेशन की मदद से संदिग्धों की तलाश की जा रही है।

NOTE:  गोरखपुर टाइम्स का एप्प जरुर डाउनलोड करें  और बने रहे ख़बरों के साथ << Click

Subscribe Gorakhpur Times "YOUTUBE" channel !

The Photo Bank | अच्छे फोटो के मिलते है पैसे, देर किस बात की आज ही DOWNLOAD करें और दिखाए अपना हुनर!

 

कामाख्या एक्सप्रेस ट्रेन से गोरखपुर आए थे 21 जमाती

कोरोना पॉजिटिव पाए गए छह जमातियों समेत महराजगंज के 21 जमाती लौटते समय 21 मार्च को कामाख्या एक्सप्रेस ट्रेन से गोरखपुर आए थे। यहां से निजी साधन और रोडवेज की बसों से वे महराजगंज गए थे। पॉजिटिव पाए गए कोल्हुई, महराजगंज निवासी एक जमाती के मोबाइल फोन का टावर लोकेशन अलीनगर का मिल रहा था। इस आधार पर उसके अलीनगर इलाके में जाने की आशंका जताई जा रही थी, लेकिन उससे पूछताछ में स्पष्ट हो गया है कि वह अलीनगर नहीं गया था। बताते हैं कि धर्मशाला बाजार में भी कभी-कभी अलीनगर का मोबाइल टावर पकड़ लेता है।

धर्मगुरुओं की ली जा रही मदद

लॉकडाउन का पालन कराने और घनी आबादी वाले मोहल्ले में लोगों को एकत्र होने से रोकने के लिए पुलिस, धर्मगुरुओं की मदद ले रही है। खास धर्म के प्रभाव क्षेत्र में उस धर्म के गुरु से लोगों से लॉकडाउन का पालन कराने की अपील कराई जा रही है। शहर के हर सीओ को प्रत्येक दिन कम से कम पांच धर्मगुरुओं से मिलकर अपील कराने का लक्ष्य दिया गया है।

घर में ही क्वारंटाइन हुआ कामाख्या एक्सप्रेस का स्टाफ

आनंद विहार-कामाख्या एक्सप्रेस से 21 जमातियों के साथ यात्रा करने वाला रेलवे स्टॉफ घर पर ही क्वारंटाइन है। रेलवे प्रशासन भी उन्हें घर पर क्वारंटाइन रहने की सलाह दे रहा है। स्टाफ में शामिल टीटीई, सफाईकर्मी और सुरक्षाकर्मियों को अलर्ट करने तथा रोजाना रिपोर्ट लेने के लिए दो रेलकर्मी तैनात किए गए हैं ताकि आवश्यकता पडऩे पर उनका उपचार कराया जा सके। हालांकि रेलवे चिकित्सकों का कहना है कि 16 दिन बीत गए हैं। जमातियों के साथ जो रेलकर्मी गोरखपुर, सिवान और छपरा उतरे थे, उनसे संपर्क किया गया है। सभी स्वस्थ हैं। ऐसे में कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा लगभग समाप्त हो गया है। इसके बावजूद सतर्कता बरती जा रही है। रेलकर्मियों के अलावा चिन्हित यात्रियों को भी अलर्ट कर दिया गया है। 21 मार्च को आनंदविहार-कामाख्या एक्सप्रेस के एस-5 कोच से महराजगंज के 21 जमाती गोरखपुर जंक्शन पर उतरे थे। जांच में छह जमाती पाजिटिव पाए गए हैं। मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह के अनुसार जिला प्रशासन को मामले से अवगत करा दिया गया है।

ये भी पढ़े :  लॉकडाउन के बाद 15 अप्रैल से चालू नहीं होगी ट्रेन सेवाएं, रेल मंत्रालय ने ट्वीट कर दी जानकारी

कोरोना पॉजिटिव मिला बस्ती का एक युवक

बाबा राघवदास मेडिकल कॉलेज स्थित क्षेत्रीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान केंद्र में कुल 24 लोगों के नमूनों की जांच हुई, जिसमें बस्ती के एक युवक की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। शेष सभी निगेटिव हैं। रविवार को बस्ती के 24 नमूनों की जांच हुई थी, जिसमें एक संदिग्ध व सभी निगेटिव आई थीं। संदिग्ध नमूने की जांच पुन: सोमवार को की गई तो पॉजिटिव पाई गई। कोरोना पॉजिटिव पाया गया युवक बस्ती के मृत युवक का रिश्तेदार है। इसके अलावा विभिन्न जिलों से आए 23 नमूने निगेटिव मिले हैं। क्षेत्रीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान केंद्र के मीडिया प्रभारी डॉ. अशोक पांडेय ने बताया कि बस्ती के एक, सिद्धार्थनगर के सात, अयोध्या के सात और महराजगंज के नौ नमूनों की जांच की गई।

चीन से लौटा चौरीचौरा का युवक क्वारंटाइन

चीन से लौटे चौरीचौरा के एक युवक को टीबी अस्पताल, नंदानगर में सोमवार को क्वारंटाइन कर दिया गया। स्वास्थ्य टीम ने कोरोना संक्रमण जांच के लिए उसका सैंपल मेडिकल कॉलेज परिसर स्थित क्षेत्रीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान केंद्र में भेज दिया है। युवक के गले में खरास है, उसका इलाज शुरू कर दिया गया है। मुख्य चिकित्साधिकारी श्रीकांत तिवारी ने बताया कि चौरीचौरा का एक युवक 17 दिन पहले चीन से लौटा है। उसने सोमवार को स्वास्थ्य विभाग के कंट्रोल रूम में फोन कर बताया कि गले में खरास है। स्वास्थ्य टीम ने उसे टीबी अस्पताल, नंदानगर में भर्ती कर उसका इलाज शुरू कर दिया है। सैंपल जांच के लिए भेज दिया है। निगेटिव आने पर उसे डिस्चार्ज कर दिया जाएगा। पॉजिटिव आने पर 14 दिन अस्पताल में क्वारंटाइन रहेगा या जरूरत पडऩे पर उसे जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया जाएगा। उन्होंने कहा कि चूंकि युवक 17 दिन पहले आया है, इसलिए उसका क्वारंटाइन समय समाप्त हो चुका है, फिर भी एहतियातन उसे भर्ती किया गया है।

ये भी पढ़े :  BIG BREAKING: लखनऊ में 12 नए मामले, सब जमात से जुड़े हुए। पूरा इलाका सील

दुआ करने के लिए महिला के घर में रुके पांच लोग पकड़े गए

गोरखपुर के झंगहा इलाके के बोहाबार गांव में बाहर से आकर रुके पांच लोगों को हिरासत में लेकर क्वारंटाइन सेंटर भेज दिया गया है। ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना देकर उनके तब्लीगी जमात से जुड़े होने की आशंका जताई थी। हालांकि छानबीन में इसकी पुष्टि नहीं हुई है। पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार किए गए पांचों लोग महिला के बुलाने पर नियाज फातिहा (दुआ) करने आए थे। बोहाबार निवासी जुबैदा खातून के घर में कुछ लोग रविवार से ही आकर रुके थे। गांव के लोगों ने एसडीएम चौरीचौरा अर्पिता गुप्ता को फोन से सोमवार को इसकी सूचना दी। कुछ देर बाद ही झंगहा थाना प्रभारी और अतिरिक्त पुलिस बल के साथ एसडीएम गांव में पहुंच गईं। जुबैदा खातून के घर में रुके सभी पांचों लोगों को हिरासत में ले लिया गया।

इन जिलों के हैं पकड़े गए लोग

उनकी पहचान देवरिया जिले में रुद्रपुर क्षेत्र के निबही गांव स्थित मस्जिद के इमाम नूर हैदर तथा इसी गांव के इस्माइल, मो. कैफ, इरशाद और खुशबूद्दीन के रूप में हुई। पकड़े गए पांचों लोगों को पहले गांव के ही विद्यालय में बने क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया था, बाद में उन्हें रुद्रपुर पुलिस के हवाले कर दिया गया। रुद्रपुर पुलिस ने उन्हें निबही गांव के विद्यालय में बने क्वारंटाइन सेंटर में रखा है। महिला को घर के अंदर ही क्वारंटाइन रहने का निर्देश दिया गया है। इसके अलावा झंगहा पुलिस ने जुबैदा खातून और दुआ करने आए इमाम सहित पांचों के विरुद्ध निषेधाज्ञा के उल्लंघन और संक्रमण फैलाने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर लिया है। 

Advertisements
%d bloggers like this: