Thursday, January 21, 2021

JDU के छह MLA बीजेपी में शामिल, तेज प्रताप बोले- बिहार से भी जल्द होगा सफाया

सर्दी से बचने को कमरे में जलाई थी अंगीठी, मौत की नींद सोया पूरा परिवार

बंद कमरे में अंगीठी जलाकर सोना एक परिवार के लिए जानलेवा साबित हुआ है। दिल्ली से सटे...

वकील साहब का चोरी हो गया मोबाइल, पुलिस नहीं दर्ज की एफआईआर, CJM का आदेश, थानेदार के खिलाफ दर्ज हो केस

वकील साहब का चोरी हो गए मोबाइल का एफआईआर दर्ज नहीं करना थानेदार को अब महंगा पड़ जाएगा। सीजेएम के आदेश पर...

जूनियर बालक कबड्डी टीम का चयन 21 को रीजनल स्टेडियम गोरखपुर में

जूनियर बालक कबड्डी टीम का चयन 21को कौड़ीराम, गोरखपुर। उत्तर प्रदेश राज्य जूनियर बालक कबड्डी प्रतियोगिता विक्रम इण्टर...

RPM स्कूल के प्रबंधक अजय शाही ने राममंदिर के लिए दिए 111101 रुपए,कई अन्य ने भी दिया अपना समर्पण…

अयोध्या में बनने वाले भव्य श्रीराममंदिर के निर्माण हेतु चलाए जा रहे श्रीरामजन्मभूमि निधि समर्पण अभियान के तहत आज आर पी एम...

यूपी: शफी ने नसीम को थी अपनी बीवी उधार,अब नसीम ने लौटाने से किया साफ इंकार यह रहा पूरा मामला

आपने लोगों को रूपये पैसे या फिर कोई गाड़ी या चीज़ उधार देते हुए सुना होगा लेकिन...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

अरुणाचल प्रदेश में जेडीयू (जनता दल यूनाइटेड) को झटका लगा है. उनके छह विधायक बीजेपी में शामिल हो गए हैं. इसको लेकर अब बिहार में भी सियासी पारा चढ़ गया है. आरजेडी नेता और लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने इस मुद्दे पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि जेडीयू का जल्द ही बिहार से भी सफाया हो जाएगा. पार्टी अब पूरी तरह से टूट गई है. इस बार विधानसभा में इनकी पार्टी आधी सीटों पर सिमट कर रह गई है.

तेज प्रताप ने कहा, ‘शुरू से ही उनका सफाया हो रहा है. अरुणाचल प्रदेश से इसकी शुरुआत हुई है. अब बिहार में भी इनका जल्द ही सफाया हो जाएगा. जेडीयू पूरी तरीके से खंडित हो चुकी है, टूट चुकी है. नीतीश कुमार ने जो फैसला लिया बहुत गलत फैसला लिया. उन्होंने पीठ में छुरा घोंपने का काम किया है.’

दूसरी तरफ आरजेडी के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने बीजेपी पर हमला बोला है. शिवानंद तिवारी ने सवाल उठाते हुए कहा है कि जब अरुणाचल प्रदेश में बीजेपी के पास पर्याप्त संख्या बल था तो फिर जनता दल यूनाइटेड के विधायकों को क्यों तोड़ा गया ?

ये भी पढ़े :  सैकड़ों NRI ने ब्रिटेन की सड़कों पर किया नरेंद्र मोदी के लिए प्रचार...

शिवानंद तिवारी ने फेसबुक पर लिखा, “बीजेपी को विधानसभा में खासा बहुमत था. फिर उसने नीतीश कुमार के विधायकों को क्यों तोड़ा? भाजपा के इस कदम का क्या अर्थ निकलता है ? क्या माना जाए कि भाजपा ने नीतीश से पुराना हिसाब चुकाना शुरू कर दिया है”.

ये भी पढ़े :  BJP ने किया बड़ा वादा, ‘1 रुपये में मिलेगा 5 किलो चावल, 500 ग्राम दाल और नमक’....

नीतीश पर जारी है आरजेडी का हमला
जाहिर है बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए सरकार को बने डेढ़ महीना हो चुका है. आरजेडी (राष्ट्रीय जनता दल) लगातार मुख्यमंत्री नीतीश पर हमला कर रही है. आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने अपने पार्टी कार्यकर्ताओं से सोमवार को मध्यावधि चुनाव की तैयारी में जुटने का आह्वान करते हुए कहा कि जोड़तोड़ से बनी नीतीश सरकार अपना कार्यकाल पूरा नहीं करेगी और 2021 में कभी भी चुनाव हो सकते हैं, जिसके लिए हमें तैयार रहना होगा.

इतना ही नहीं तेजस्वी मकर संक्रांति के बाद बिहार में धन्यवाद यात्रा पर निकलने का ऐलान किया है. तेजस्वी के बयान के बाद सवाल उठने लगा है कि क्या बिहार में जल्द ही टूट जाएगा बीजेपी और जेडीयू का गठबंधन?

एनडीए के सहयोगी हिंदुस्तान अवाम मोर्चा के प्रमुख जीतन राम मांझी ने तेजस्वी यादव के बयान पर पलटवार करते हुए कहा है कि चुनाव होने की भविष्यवाणी से मैं पूरी तरह सहमत हूं, पर वह उपचुनाव होगा, ना कि विधानसभा चुनाव. आरजेडी और कांग्रेस के कई विधायक हमारे साथ हैं. इन सभी के हमारे साथ आने पर तो उपचुनाव होंगे ही. मांझी ने कहा है कि 14 जनवरी तक इंतजार करें और फिर देखिएगा कि किन-किन सीटों पर उप चुनाव होंगे.

ये भी पढ़े :  अभिनंदन समारोह में टूटा मंच, स्‍वागतगान शुरू होते ही जमीन पर धड़ाम जा गिरे विधायक जी

बिहार विधानसभा चुनाव में इस बार जिस तरह के नतीजे आए हैं, उसमें एनडीए को बहुमत से महज दो सीटें ही ज्यादा मिली हैं. बिहार के एनडीए गठबंधन में इस बार चार पार्टियां हैं, जिनमें बीजेपी और जेडीयू के अलावा मुकेश सहनी की वीआईपी और जीतनराम मांझी की HAM शामिल है. यही नहीं जेडीयू पहली बार बीजेपी से कम सीटें जीतकर आई है.

ये भी पढ़े :  दिल्ली दंगों में ‘अपनी’ महिलाओं के लिए निर्देश: खौलता तेल, एसिड की बोतलें, पेट्रोल जमा करो… चार्जशीट दायर

वहीं, तेजस्वी के अगुवाई वाले महागठबंधन के पास कुल 110 विधायक हैं जबकि AIMIM के पांच और बाकी दलों से तीन एमएलए जीतकर आए हैं. ऐसे में कुछ विधायक इधर से उधर हुए तो बिहार का समीकरण ही बदल सकता है. यही वजह है कि तेजस्वी यादव ही नहीं बल्कि चिराग पासवान भी आगामी चुनाव के लिए अभी से ही कमर कस रहे हैं.

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

Martyrs’ Day को लेकर केंद्र का आदेश, 2 मिनट ‘थम’ जाएगा देश

Martyrs Day 2021 केंद्रीय गृह मंत्रालय ने हर साल की तरह इस साल भी 30 जनवरी को शहीद दिवस मनाने के लिए...

यूपी ग्राम पंचायत चुनाव 2021 की आरक्षण नीति आज हो सकती है जारी, क्‍या होंगे नियम?

यूपी ग्राम पंचायत चुनाव 2021 की आरक्षण नीति का इंतजार आज संभवत खत्म हो सकता है । उम्मीद है कि यूपी सरकार...

AAP सांसद संजय सिंह को मिली जाने मारने की धमकी, ‘हिंदू वाहिनी’ पर आरोप, दर्ज कराई शिकायत

आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने नार्थ एवेन्यू थाने में जान से मारने की धमकी दिए जाने की शिकायत दर्ज...
%d bloggers like this: