Saturday, January 23, 2021

जदयू प्रदेश अध्‍यक्ष ने कहा, बीजेपी ने गहरे जख्‍म दिए हैं, 15 सालों में ऐसा कभी नहीं हुआ

ट्रैक्टर मार्च: किसानों की तरफ से पेश किए गए शख्स का दावा- चार किसान नेताओं को गोली मारने की रची गई थी साजिश

आज सिंघु बार्डर पर किसान यूनियन की तरफ से एक शख्स को पेश किया गया, जिसनें दावा किया कि 26 जनवरी को...

गोरखपुर महोत्सव को सफल बनाने हेतु पीसीएस प्रतिमा त्रिपाठी को कमिश्नर ने किया सम्मानित

गोरखपुर महोत्सव को सफल बनाने हेतु पीसीएस प्रतिमा त्रिपाठी को कमिश्नर ने किया सम्मानित गोरखपुर की पहचान बन कर...

मृतक के स्पर्म पर पिता या उसकी विधवा पत्नी का अधिकार? कलकत्ता हाईकोर्ट ने सुनाया फैसला

कलकत्ता उच्च न्यायालय ने एक पिता द्वारा अपने मृत बेटे के जमा किए हुए स्पर्म पर पेश की दावेदारी...

भजन सम्राट और जगराता में माता के भजन गाने के लिए मशहूर नरेंद्र चंचल का दिल्ली में आज निधन हो गया

भजन सम्राट और जगराता में माता के भजन गाने के लिए मशहूर नरेंद्र चंचल का दिल्ली का आज निधन हो गया. अपोलो...

आज सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र फरेन्दा में कोविड-19 की पहली डोज डॉ सी वी पांडेय को लगाया गया

Maharajganj: सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र फरेंदा में महराजगंज के डीएम डॉ उज्जवल कुमार एवँ सीएमओ डॉ ए के श्रीवास्तव की मौजूदगी में...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

अरुणाचल प्रदेश में जदयू के छह विधायकों को तोड़कर सीधे-सीधे भाजपा में शामिल कराए जाने की बात जदयू को टीस रही है। जदयू के प्रदेश अध्यक्ष बशिष्ठ नारायण सिंह ने आज मंगलवार (29 दिसंबर) को कहा कि अरुणाचल का अनुभव जदयू के लिए अच्छा नहीं। यह गठबंधन की भावना के खिलाफ है और इसका असर जदयू के मन पर पड़ा है। अपने आवास में एक बातचीत के क्रम में उन्होंने यह बात कही।

ये भी पढ़े :  दिल्ली BJP के अध्यक्ष पद से हटाए गए मनोज तिवारी, पार्टी ने आदेश गुप्ता को सौंपी कमान

सरकार में शामिल करने की बजाय विधायकों को तोड़ना अच्‍छा नहीं
जदयू प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि जदयू ने तो यह कह रखा था कि हम अरुणाचल प्रदेश में सरकार में शामिल हो सकते हैं । पूरी तरह से तैयार थी पार्टी। हम साथ देने की बात कर रहे थे और भाजपा ने विधायकों को ही साथ कर लिया। ऐसी कौन सी जरूरत पड़ गई कि भाजपा ने ऐसा कर दिया । उन्होंने कहा कि यह अच्‍छी बात नहीं है।

ये भी पढ़े : 

भाजपा ने भावना नहीं समझी
बशिष्ठ नारायण सिंह ने आगे कहा कि 15 वर्षों से बिहार में जदयू और भाजपा का गठबंधन है और यहां किसी मसले पर कोई खटपट नहीं हुई। सीएम नीतीश कुमार ने हमेशा गठबंधन धर्म का पालन किया है। इस भावना को समझा जाना चाहिए।  जिस तरह का घटनाक्रम अरुणाचल प्रदेश में हुआ उसकी पुनरावृत्ति नहीं होनी चाहिए।

राजद के ऑफर को ठुकराया
राजद के नीतीश कुमार को दिए ऑफर पर वशिष्‍ठ नारायण सिंह ने कहा कि राजद विधान सभा चुनाव में अपनी हार पचा नहीं पा रहा है। तेजस्‍वी को सीएम बनाने और नीतीश कुमार को पीएम बनाने का ऑफर हड़बड़ी और जल्‍दबाजी में दिया गया ऑफर है। राजद को नसीहत दी कि विपक्ष धर्म का पालन करें।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

ट्रैक्टर मार्च: किसानों की तरफ से पेश किए गए शख्स का दावा- चार किसान नेताओं को गोली मारने की रची गई थी साजिश

आज सिंघु बार्डर पर किसान यूनियन की तरफ से एक शख्स को पेश किया गया, जिसनें दावा किया कि 26 जनवरी को...

सोशल मीडिया पर टिप्पणी को लेकर सरकारी फरमान पर बिफरे तेजस्वी, CM को दी चुनौती- करो गिरफ्तार

सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर सरकारी फरमान पर सत्ता और विपक्ष एक-दूसरे के सामने आ गए हैं. दरअसल, सोशल मीडिया...

Martyrs’ Day को लेकर केंद्र का आदेश, 2 मिनट ‘थम’ जाएगा देश

Martyrs Day 2021 केंद्रीय गृह मंत्रालय ने हर साल की तरह इस साल भी 30 जनवरी को शहीद दिवस मनाने के लिए...
%d bloggers like this: