Friday, January 15, 2021

लड़कियों के लिए मिसाल हैं ये महिला IAS, अपनी हाइट को नहीं बनने दिया बाधा

गोरखपुर में राम मंदिर निर्माण रैली पर लोगों ने की फूलों की बारिश

राम मंदिर निर्माण धन संग्रह को निकाली जागरूकता रैली रैली का लोगों ने किया पुष्प वर्षा से स्वागत।

गोरखपुर:भव्य राममंदिर निर्माण हेतु श्रीराम जन्मभूमि निधि समर्पण अभियान का हुआ शुभारम्भ….

आयोध्या में भगवान श्रीराम के जन्मभूमि पर बनने वाले भव्य मंदिर के निर्माण हेतु चलाए जा रहे श्रीराम जन्मभूमि निधि समर्पण अभियान...

शहीद के बेटे नीतीश 26 जनवरी को अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी किलिमंजारो पर फहराएंगे तिरंगा,मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सौपा तिरंगा…

गोरखपुरःगोरखपुर के राजेन्द्र नगर के रहने वाले युवा पर्वतारोही नीतीश सिंह 26 जनवरी को अफ्रीका महाद्वीप की सबसे...

Norway: परेशान करने वाली खबर: फाइजर कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद 13 लोगों की हुई मौत, 29 में दिखे साइड इफेक्ट।

ओस्‍लो (नॉर्वे): कोरोना वायरस के खिलाफ दुनियाभर के कई देशों में लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है, लेकिन इस बीच फाइजर वैक्सीन...

Top News: पूर्व आईएएस एके शर्मा का विधान परिषद जाना तय, देखे पूरी लिस्ट, Gorakhpur Times की खबर सच।

भारतीय जनता पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति ने उत्तर प्रदेश में आगामी विधान परिषद चुनाव के लिए 4 नामों की घोषणा कर...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

कहते हैं दुनिया में कुछ भी असंभव नहीं. अगर किसी चीज को पाने की लगन हो और उसके लिए कड़ी मेहनत की जाए तो कामयाबी से कोई नहीं रोक सकता. शायद यही कारण है कि ये महिला IAS आज लड़कियों के लिए मिसाल बन चुकी हैं. क्योंकि, इनकी जिदंगी आम लोगों की तरह सामान्य नहीं थी. बचपन काफी कठिनाइयों से गुजरा, इसके बावजूद उन्होंने वह मुकाम हासिल किया, जिसके बारे में लोग कल्पना तक नहीं कर सकते. हमारी खास पेशकश ‘जज्बे को सलाम’ में आज हम आपको IAS आरती डोगरा के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्होंने अपने कद को कभी आड़े नहीं आने दिया.

ये भी पढ़े :  32 बार हो चुके हैं फेल 33वीं बार में 10 वीं क्लास में सरकार ने किया प्रमोट और पास हो गए

आरती डोगरा मूलरूप से उतराखंड के दून स्थित विजय कॉलोनी की रहने वाली हैं. उनका बचपन कापी संघर्षपूर्ण था क्योंकि उनकी हाइट महज 3 फुट 2 इंच है. बचपन में डॉक्टर ने कहा था कि वह सामान्य स्कूल में नहीं पढ़ पाएंगी. लेकिन, आरती के पिता कर्नल राजेन्द्र डोरा सेना में अधिकारी थे और मां कुमकुम स्कूल में प्रिंसिपल. दोनों ने हिम्मत नहीं हारी और उनके जुनून ने आरती डोगरा को हौसला प्रदान किया. आरती के माता-पिता ने उन्हें सामान्य स्कूल में भेजना शुरू किया, साथ ही खेलकूद और अन्य गितविधियों के लिए भी आरती को तैयार किया. आरती डोगार खुद कहा था कि उनके माता-पिता ने उनकी परवरिश सिंगल चाइल्ड के रूप में की थी. उनके पिता ने उन्हें घुड़सवारी तक सिखाई। स्कूल से निकलने के बाद आरती डोगरा दिल्ली यूनिवर्सिटी के लेडी श्रीराम कॉलेज में पढ़ाई करने के लिए पहुंची. यहां उन्होंने छात्र राजनीति में भी हिस्सा लिया और छात्र संघ चुनाव भी जीतीं. ग्रेजुएशन पूरी करने के बाद उन्होंने पीजी की पढ़ाई देहरादून से की. इसी दौरान उनकी मुलाकात देहरादून की तत्काली कलेक्टर मनीषा से उनकी मुलाकात हुई और वहीं से उनकी जिंदगी बदल गई.

ये भी पढ़े :  गुरुवार को गोरखपुर क्षेत्र ग्रामीण विधायक विपिन सिंह ने प्राथमिक विद्यालयों को कायाकल्प के लिए अपने विधान मण्डल क्षेत्र विकास निधि से 25 लाख रुपए देने की घोषणा की ।

आरती बताती हैं कि मनीषा ने ही उन्हें कलेक्टर बनने के लिए प्रेरित किया और इसके बाद ही आरती ने तय किया कि वह कलेक्टर बनेंगी. आरती के पिता ने भी इस फैसले में उनका साथ दिया। उम्मीद के विपरित आरती लिखित परीक्षा कर गईं. वहीं, जब वह इंटरव्यू के लिए गईं लेकिन वह पूरी तरह नर्वस थीं. हालांकि, वहां पर लोगों ने उनका सहयोग किया. इंटरव्यू भी काफी अच्छा रहा और पहले ही प्रयास में वर कलेक्टर बन गईं. यहां आपको बता दें कि आरती डोगरा 2006 बैच की IAS ऑफिसर हैं. राजस्थान में रहते हुए आरती डोगरा ने कई अद्भुत काम किए, जिसके कारण उन्हें खूब तारीफें मिली. लेकिन, आरती डोगरा इस कथन को सच साबित कर दिया कि अगर किसी चीज को दिल से पाने की कोशिश की जाए तो पूरी कायनात उससे आपको मिलाने में जुट जाती है.

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

cbse exam date 2021 : जनवरी-फरवरी में नहीं होगी CBSE परीक्षाएं

नई दिल्ली। केन्द्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि सीबीएसई परीक्षाएं (CBSE Exam) जनवरी-फरवरी...

अगले साल से इन राज्यों में फिर से खुलेंगे स्कूल-कॉलेज, जानिए अपने राज्य का हाल।।

नई दिल्ली: कोरोना महामारी के कारण मार्च 2020 से देशभर के स्कूल, कॉलेज और अन्य शैक्षणिक संस्थान बंद हैं. हालांकि आगामी कुछ महीनों...

यूपी बोर्ड परीक्षा 2021: मार्च-अप्रैल में हो सकती हैं बोर्ड परीक्षाएं, पंचायत चुनाव को देखते हुए ऐलान जल्द।

उत्तर प्रदेश बोर्ड परीक्षा मार्च-अप्रैल में हो सकती है. पंचायत चुनाव को देखते हुए बोर्ड परीक्षा की तारीखों का ऐलान जल्द कर...
%d bloggers like this: