Sunday, December 5, 2021

Lucknow में डॉक्टरों की हड़ताल, सांसत में फंसी मरीजों की जान… Doctors Strike

गोरखपुर पहुँचे खेल मंत्री ने केशरिया ध्वजारोहण कर CM योगी सहित ग्रहण किया गार्ड ऑफ ऑनर,देखें मनमोहक शोभायात्रा की तश्वीरें

केंद्रीय मंत्री ने शोभायात्रा को सलामी दिया,भब्य संस्थापक सप्ताह शोभायात्रा निकाली गयी गोरखपुर। 89...

PM मोदी के गोरखपुर आगमन को लेकर भाजपा किसान मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष कामेश्वर सिंह ने कार्यकर्ताओं के साथ कि बैठक

गोरखपुर। सात अक्टूबर को गोरखपुर के फर्टिलाइजर स्थित खाद कारखाने का उद्घाटन करने आ रहे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम...

गोरखपुर:- प्रधानमंत्री की रैली के लिए भाजपाइयों ने कसी कमर

प्रधानमंत्री की रैली के लिए भाजपाइयों ने कसी कमर पिपरौली 7 दिसंबर को गोरखपुर खाद कारखाना...

संदिग्ध परिस्थिति में मिला एएनएम की शव

घुघली/महराजगंज: जनपद के घुघली थाना क्षेत्र के ग्राम सभा रामपुर बाल्डीहा में एएनएम पद पर कार्यरत खुशबू यादव की संदिग्ध परिस्थितियों बुधवार...

गोरखपुर- अंकुर शुक्ला के हत्यारों को पुलिस गिरफ्तार कर भेजे जेल नही तो होगा आंदोलन- पवन सिंह

अंकुर शुक्ला के हत्यारों को पुलिस गिरफ्तार कर भेजे जेल नही तो होगा आंदोलन- पवन सिंह सपा के कद्दावर...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

कोलकाता के जूनियर रेजिडेंट्स के समर्थन में आज यूपी में निजी और चिकित्सा संस्थानों में डॉक्टरों का कार्य बहिष्कार। केवल इमरजेंसी सेवाएं चालू।

कोलकाता के एनआरएस मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टरों के साथ मारपीट की घटना के बाद देशभर के डॉक्टर लामबंद हो गए हैं। सोमवार को डॉक्टरों के सबसे बड़े संगठन इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आइएमए) में भी इस हड़ताल में शामिल हो गया। जिसकी वजह से सोमवार को निजी अस्पताल और डायग्नोस्टिक सेंटर पूरी तरह से बंद रहे। वहीं पीजीआइ, केजीएमयू और लोहिया संस्थान में जूनियर डॉक्टर के कार्य बहिष्‍कार करने पर मरीज परेशान रहे। हड़ताल की घोषणा के बाद भी राजधानी में केजीएमयू और लोहिया संस्‍थान में मरीज आ रहे हैं और उनके बैरंग लौटने का सिलसिला जारी है। वहीं जांच के लिए भी मरीज भटकते रहे।   

पीजीआइ में नहीं हुआ रजिस्ट्रेशन 
एसजीपीजीआई ने रविवार को ऐलान कर दिया था कि सोमवार को किसी भी तरह का नया रजिस्‍ट्रेशन नहीं किया जाएगा। इसके बावजूद भी मरीज सुबह से ही ओपीडी में दिखाने पहुंचे। वहीं केवल पुराने मरीजों को ही सीनियर डॉक्‍टरों ने देखा। यहां तक कि केजीएमयू और लोहिया संस्‍थान में भी मरीजों के बैरंग लौटने जारी रहा। केजीएमयू में ट्रॉमा सेंटर में मरीज देखे गए। वहीं क्वीनमेरी, मानसिक रोग विभाग, लिंब सेंटर, लॉरी कॉर्डियोलॉजी समेत केजीएमयू के सभी विभागों में अोपीडी नहीं चली कोई भी नए मरीज नहीं देखे गए।

ये भी पढ़े :  गोरखपुर में राजनीतिक पार्टियों ने फूंका चीन के राष्ट्रपति का पुतला....
ये भी पढ़े :  पशुपालन फर्जीवाड़ा : दो आईपीएस अफसरों पर कार्रवाई के लिए शासन को भेजा पत्र...

जांच के लिए भी भटके लोग 
केजीएमयू, पीजीआई और लोहिया संस्‍थान में मरीजों को नहीं देखा गया। वहीं मरीजों को जांच करवाने में भी पसीने छूट गए। निजी नर्सिंग होम और डायग्नोस्टिक सेंटर के हड़ताल में शामिल होने की वजह से मरीजों की जांचें भी नहीं हो पाई। सीटी स्‍कैन, एमआरआई, एक्सरे, अल्ट्रासाउंड करवाने के लिए लोग परेशान नजर आए। वहीं खून की जांच के लिए भी निजी पैथोलॉजी से लोगों को खाली हाथ लौटना पड़ा। 

निजी अस्पतालों से भी खाली हाथ लौटे मरीज 
राजधानी में 700 से ज्यादा निजी अस्‍पताल और नर्सिंग होम हैं। जहां प्रतिि‍ दन लाखों मरीज देखे जाते हैं। हड़ताल की वजह से कई अस्पतालों के गेट पर ताला लटका रहा। ओपीडी पूरी तरह से ठप रही। यहां केवल पुराने मरीजों को ही देखा गया। जूनियर डॉक्टर भी राउंड पर नहीं आए। केवल इमरजेंसी में ही मरीज देखे गए।  यही हाल प्रदेश भर में भी रहा। यहां भी निजी अस्पतालों के बंद होने से मरीजों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। 

ये भी पढ़े :  गोरखपुर का कोई व्यक्ति जो बाहर रह रहा है उसके लिए बड़ी खबर

सरकारी अस्पताल में हुआ पट्टी बांधकर काम 

रेजिडेंट डॉक्टरों के समर्थन में सरकारी अस्पताल को खोलने के आदेश जारी हुए हैं। राजधानी के बलरामपुर, सिविल, लोहिया, लोकबंधु समेत सभी सीचएचसी और पीएचसी में डॉक्‍टरों ने हाथ पर काली पट्टी बांधकर काम किया। वहीं हड़ताल को देखते हुए सीएमओ डॉ नरेंद्र अग्रवाल ने सभी सरकारी अस्पतालों को अलर्ट पर रहने के लिए कहा है। 

राजधानी के निजी अस्पतालों में भी मरीजों का बुरा हाल रहा। फातिमा, विवेकानंद पॉलीक्लीनिक, चरक हॉस्पिटल समेत कई बड़े अस्पतालों की ओपीडी बंद रही।सुबह आठ बजे से शुरू होने वाली ओपीडी में हजारों की संख्या में लोग वापस हुए। 

ये भी पढ़े :  Maharajganj:अपहरण के बाद मासूम की हत्‍या को लेकर फूटा गुस्‍सा, मुख्यमंत्री से बात कराने पर अड़े ग्रामीण, किया हाईवे जाम।।

पर्चा काउंटर पर पसरा सन्नाटा
केजीएमयू, पीजीआई और लोहिया संस्थान के पर्चा काउंटर पर सन्नाटा पसरा रहा। वहीं लोहिया अस्पताल, बलरामपुर, सिविल, लोकबंधु और रानीलक्ष्मीबाई संयुक्त अस्पतालों में मरीजों की भीड़ उमड़ी। 

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

संदिग्ध परिस्थिति में मिला एएनएम की शव

घुघली/महराजगंज: जनपद के घुघली थाना क्षेत्र के ग्राम सभा रामपुर बाल्डीहा में एएनएम पद पर कार्यरत खुशबू यादव की संदिग्ध परिस्थितियों बुधवार...

भारतीय सेना के जाबांज अभिनंदन को मिला ‘वीर चक्र’, पाकिस्तानी का F-16 लड़ाकू विमान को मार गिराने के लिए सम्मान

वायुसेना के जाबांज विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को ‘वीर चक्र’ से सम्मानित किया गया है. बालाकोट एयरस्ट्राइक के दौरान पाकिस्तान के एफ-16 लड़ाकू...

Maharajganj: तेज तर्रार नेता नितेश मिश्र भाजपा छोड़ थामा सपा का दामन, आपने सैकड़ों समर्थकों के साथ ली सदस्यता

Maharajganj/Dhani: धानी ब्लॉक के डेढ़ सौ लोगो ने पूर्व भाजपा नेता नीतेश मिश्र के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी की सदस्यता लिया। प्राप्त...
%d bloggers like this: