Thursday, June 24, 2021

Lucknow में डॉक्टरों की हड़ताल, सांसत में फंसी मरीजों की जान… Doctors Strike

BJP ने खेला बड़ा दांव, पूर्व सीएम की बहू साधना सिंह को दिया टिकट

बीजेपी ने गोरखपुर के जिला पंचायत अध्यक्ष के प्रत्याशी के लिए मौजूदा विधायक फतेह बहादुर सिंह की पत्नी साधना सिंह को अपना उम्मीदवार...

भोजपुरी एक्टर खेसारीलाल यादव ने की अखिलेश यादव से मुलाकात, फोटो ट्वीट कर लिखी ये बड़ी बात

खेसारीलाल कई मौकों पर बीजेपी का विरोध कर चुके हैं. फिर चाहे वह किसान आंदोलन हो या अन्य मुद्दे. उन्होंने खुलकर केंद्र...

महाराजगंज में दो मासूम बच्‍चों की गड्ढे में डूबने से मौत, खेलने के दौरान हुआ हादसा

Maharajganj: महाराजगंज जनपद के बृजमनगंज नगर पंचायत क्षेत्र सहजनवां बाबू रोड पर मंगलवार को एक गड्ढे में डूबने से दो बच्चों मौत...

मोदी कैबिनेट में जल्‍द बड़ा फेरबदल, सिंधिया और वरुण गांधी सहित इन चेहरों को मिल सकती है जगह

टाइम्‍स नाउ की खबर के मुताबिक, मोदी कैबिनेट में जल्‍द फेरबदल का ऐलान हो सकता है। इस बार कई युवा चेहरों को...

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडी

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडीकोरोना काल मे फर्जी अस्पतालों की आई बाढ़ (((अंगद राय की कलम से)))

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

कोलकाता के जूनियर रेजिडेंट्स के समर्थन में आज यूपी में निजी और चिकित्सा संस्थानों में डॉक्टरों का कार्य बहिष्कार। केवल इमरजेंसी सेवाएं चालू।

कोलकाता के एनआरएस मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टरों के साथ मारपीट की घटना के बाद देशभर के डॉक्टर लामबंद हो गए हैं। सोमवार को डॉक्टरों के सबसे बड़े संगठन इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आइएमए) में भी इस हड़ताल में शामिल हो गया। जिसकी वजह से सोमवार को निजी अस्पताल और डायग्नोस्टिक सेंटर पूरी तरह से बंद रहे। वहीं पीजीआइ, केजीएमयू और लोहिया संस्थान में जूनियर डॉक्टर के कार्य बहिष्‍कार करने पर मरीज परेशान रहे। हड़ताल की घोषणा के बाद भी राजधानी में केजीएमयू और लोहिया संस्‍थान में मरीज आ रहे हैं और उनके बैरंग लौटने का सिलसिला जारी है। वहीं जांच के लिए भी मरीज भटकते रहे।   

पीजीआइ में नहीं हुआ रजिस्ट्रेशन 
एसजीपीजीआई ने रविवार को ऐलान कर दिया था कि सोमवार को किसी भी तरह का नया रजिस्‍ट्रेशन नहीं किया जाएगा। इसके बावजूद भी मरीज सुबह से ही ओपीडी में दिखाने पहुंचे। वहीं केवल पुराने मरीजों को ही सीनियर डॉक्‍टरों ने देखा। यहां तक कि केजीएमयू और लोहिया संस्‍थान में भी मरीजों के बैरंग लौटने जारी रहा। केजीएमयू में ट्रॉमा सेंटर में मरीज देखे गए। वहीं क्वीनमेरी, मानसिक रोग विभाग, लिंब सेंटर, लॉरी कॉर्डियोलॉजी समेत केजीएमयू के सभी विभागों में अोपीडी नहीं चली कोई भी नए मरीज नहीं देखे गए।

ये भी पढ़े :  झारखण्ड में छठ पर लगाया कई बैन: घाट पर स्नान, सजावट और पटाखों पर प्रतिबंध – हेमंत सरकार का आदेश जारी
ये भी पढ़े :  झारखण्ड में छठ पर लगाया कई बैन: घाट पर स्नान, सजावट और पटाखों पर प्रतिबंध – हेमंत सरकार का आदेश जारी

जांच के लिए भी भटके लोग 
केजीएमयू, पीजीआई और लोहिया संस्‍थान में मरीजों को नहीं देखा गया। वहीं मरीजों को जांच करवाने में भी पसीने छूट गए। निजी नर्सिंग होम और डायग्नोस्टिक सेंटर के हड़ताल में शामिल होने की वजह से मरीजों की जांचें भी नहीं हो पाई। सीटी स्‍कैन, एमआरआई, एक्सरे, अल्ट्रासाउंड करवाने के लिए लोग परेशान नजर आए। वहीं खून की जांच के लिए भी निजी पैथोलॉजी से लोगों को खाली हाथ लौटना पड़ा। 

निजी अस्पतालों से भी खाली हाथ लौटे मरीज 
राजधानी में 700 से ज्यादा निजी अस्‍पताल और नर्सिंग होम हैं। जहां प्रतिि‍ दन लाखों मरीज देखे जाते हैं। हड़ताल की वजह से कई अस्पतालों के गेट पर ताला लटका रहा। ओपीडी पूरी तरह से ठप रही। यहां केवल पुराने मरीजों को ही देखा गया। जूनियर डॉक्टर भी राउंड पर नहीं आए। केवल इमरजेंसी में ही मरीज देखे गए।  यही हाल प्रदेश भर में भी रहा। यहां भी निजी अस्पतालों के बंद होने से मरीजों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। 

ये भी पढ़े :  ब्रेकिंग::- मुख्यमंत्री हो तो ऐसा,योगी आदित्यनाथ के द्वारा 23 करोड़ के लिए आया नया निर्देश....

सरकारी अस्पताल में हुआ पट्टी बांधकर काम 

रेजिडेंट डॉक्टरों के समर्थन में सरकारी अस्पताल को खोलने के आदेश जारी हुए हैं। राजधानी के बलरामपुर, सिविल, लोहिया, लोकबंधु समेत सभी सीचएचसी और पीएचसी में डॉक्‍टरों ने हाथ पर काली पट्टी बांधकर काम किया। वहीं हड़ताल को देखते हुए सीएमओ डॉ नरेंद्र अग्रवाल ने सभी सरकारी अस्पतालों को अलर्ट पर रहने के लिए कहा है। 

राजधानी के निजी अस्पतालों में भी मरीजों का बुरा हाल रहा। फातिमा, विवेकानंद पॉलीक्लीनिक, चरक हॉस्पिटल समेत कई बड़े अस्पतालों की ओपीडी बंद रही।सुबह आठ बजे से शुरू होने वाली ओपीडी में हजारों की संख्या में लोग वापस हुए। 

ये भी पढ़े :  उत्तर प्रदेश: 3 महीने के लिए बिजली बिल पर सरकार से बहुत बड़ी राहत

पर्चा काउंटर पर पसरा सन्नाटा
केजीएमयू, पीजीआई और लोहिया संस्थान के पर्चा काउंटर पर सन्नाटा पसरा रहा। वहीं लोहिया अस्पताल, बलरामपुर, सिविल, लोकबंधु और रानीलक्ष्मीबाई संयुक्त अस्पतालों में मरीजों की भीड़ उमड़ी। 

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

BJP ने खेला बड़ा दांव, पूर्व सीएम की बहू साधना सिंह को दिया टिकट

बीजेपी ने गोरखपुर के जिला पंचायत अध्यक्ष के प्रत्याशी के लिए मौजूदा विधायक फतेह बहादुर सिंह की पत्नी साधना सिंह को अपना उम्मीदवार...

भोजपुरी एक्टर खेसारीलाल यादव ने की अखिलेश यादव से मुलाकात, फोटो ट्वीट कर लिखी ये बड़ी बात

खेसारीलाल कई मौकों पर बीजेपी का विरोध कर चुके हैं. फिर चाहे वह किसान आंदोलन हो या अन्य मुद्दे. उन्होंने खुलकर केंद्र...

महाराजगंज में दो मासूम बच्‍चों की गड्ढे में डूबने से मौत, खेलने के दौरान हुआ हादसा

Maharajganj: महाराजगंज जनपद के बृजमनगंज नगर पंचायत क्षेत्र सहजनवां बाबू रोड पर मंगलवार को एक गड्ढे में डूबने से दो बच्चों मौत...
%d bloggers like this: