Saturday, September 25, 2021

MSMEs और Real Estate को ध्यान में रखते हुए, वित्तमंत्री ने अर्थव्यवस्था को बूस्ट करने के लिए 6 लाख करोड़ दिया

Maharajganj: हड़हवा टोल प्लाजा पर भेदभाव हुआ तो होगा आन्दोलन।

फरेन्दा, महराजगंज: फरेन्दा नौगढ़ मार्ग पर स्थित हड़हवा टोल प्लाजा पर प्रबन्धक द्वारा कुछ विशेष लोगो को छोड़ बाकी सबसे टोल टैक्स...

Maharajganj: बृजमनगंज थाना क्षेत्र में चोरों के हौसले बुलंद, लोग पूछ रहे सवाल क्या कर रहे हैं जिम्मेदार

बृजमनगंज, महाराजगंज. थाना क्षेत्र में पुलिस की निष्क्रियता के चलते चोरों के हौसले बुलंद है. जिसके कारण चोरी की घटनाएं बढ़ रही...

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार गोरखपुर। दिल्ली...

Maharajganj: औकात में रहना सिखो बेटा नहीं तो तुम्हारे घर में घुस कर मारेंगे-भाजपा आईटी सेल मंडल संयोजक, भद्दी भद्दी गालियां फेसबुक पर वायरल।

Maharajganj: महाराजगंज जनपद में भाजपा द्वारा नियुक्त धानी मंडल संयोजक का फेसबुक पर गाली-गलौज और धमकी वायरल। फेसबुक पर धानी मंडल संयोजक...

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

प्रधानमंत्री के सम्बोधन के एक दिन बाद कल यानि 13 मई को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रेस कोंफेरेंस कर देश के सामने 20 लाख करोड़ रुपए के राहत पैकेज से संबन्धित सभी जानकारी सहित देश की अर्थव्यवस्था को उबारने का ब्लूप्रिंट सामने रखा। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में वित्त मंत्री का सबसे ज़्यादा फोकस मध्यम वर्ग के बिजनेस यानि MSMEs पर था, जो देश में सबसे ज़्यादा रोजगार प्रदान करते हैं, लेकिन कोरोना के समय में इनके ऊपर ही सबसे ज़्यादा दुष्प्रभाव पड़ा है। MSMEs के साथ ही वित्त मंत्री ने real estate सेक्टर पर भी फोकस किया जिसे दो महीनों के लॉकडाउन के समय सबसे ज़्यादा नुकसान झेलना पड़ा है।

कल की प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीतारमण ने MSMEs के लिए बिना गारंटी के 3 लाख करोड़ रुपये के लोन देने की घोषणा की, जिसका लगभग 45 लाख MSME फायदा उठा सकेंगे। इसकी समय-सीमा 4 वर्ष की होगी और 12 महीने तक मूलधन भी नहीं चुकाना होगा। अभी सरकार ने इस लोन के लिए ब्याज दर निर्धारित नहीं की है, और आने वाले दिनों में ब्याज दर की घोषणा भी की जा सकती है। सरकार ने साथ में MSMEs की परिभाषा को भी और ज़्यादा विस्तृत कर दिया है ताकि सरकार के इन फैसलों का अधिक से अधिक बिजनेस फायदा उठा सकें।

ये भी पढ़े :  गोरखपुर... आतिशबाजी से स्मॉग की चपेट में आया पूर्वी उत्‍तर प्रदेश, यह हो रही परेशानी...
ये भी पढ़े :  सदर अस्पताल के पीछे बनी अवैध कालोनी पर नगर निगम का जबरजस्त एक्शन..........

Agriculture सेक्टर के बाद देश में MSME ही सबसे ज़्यादा रोजगार पैदा करता है। अगर यह सेक्टर धराशायी हो जाता है, तो देश की अर्थव्यवस्था को दोबारा पटरी पर लाना असंभव जो जाएगा। करोड़ों लोग बेरोजगार हो जाएंगे और देश कई साल पीछे चला जाएगा। कल वित्त मंत्री ने लगभग 6 लाख करोड़ रुपयों के राहत पैकेज संबन्धित जानकारी को देश से साझा किया जिसमें से लगभग 4 लाख करोड़ रुपयों को MSME के लिए ही आवंटित किया गया था।

वित्त मंत्री ने construction और power सेक्टर पर भी फोकस किया। सरकार ने power distribution कंपनियों के लिए 90 हज़ार करोड़ के राहत पैकेज का ऐलान किया। यह राहत पैकेज इन कंपनियों को विद्युत उत्पादन कंपनियों के कर्ज़ को चुकाने में सहायता प्रदान करेगा। Discoms के लिए इस राहत पैकेज की बहुत आवश्यकता थी, क्योंकि लॉकडाउन के दौरान बिजली की मांग घटने से ये कंपनियां cash flow की समस्या से जूझ रही हैं।

इसी के साथ सरकार ने कहा है कि वह real estate को राहत देने के लिए covid-19 की स्थिति को ‘force majeure’ घोषित करेंगे, जिसके तहत मार्च 25, 2020 और इसके बाद expire होने वाले सभी प्रोजेक्ट के लिए पंजीकरण और पूर्ति की deadline को छः महीनों के लिए बढ़ा दिया जाएगा ।

ये भी पढ़े :  महिलाओं से मुंबई में रेल ब्रिज पर छेड़छाड़ करने वाला अरेस्ट, जबरन छूता था व किस करके भाग जाता था

सरकार का यह राहत पैकेज देश की कंपनियों को वित्तीय सहायता प्रदान करेगा और देश में “मांग” को बढ़ावा देगा, जिससे manufacturing सेक्टर को भी सहारा मिलेगा। इसी प्रकार देश की अर्थव्यवस्था दोबारा पटरी पर आएगी। सरकार देश में 17 मई के बाद से लॉकडाउन का चौथा चरण देशभर में लागू करेगी जहां देश में कुछ शर्तों के साथ दोबारा आर्थिक गतिविधियों के शुरू करने को मंजूरी दी जा सकती है। आज जब कोरोना के समय दुनियाभर की अर्थव्यवस्थाएं डूबने की कगार पर है, तो ऐसे वक्त में देश में आर्थिक विकास दर positive रखना सरकार की बहुत बड़ी उपलब्धि होगी।

ये भी पढ़े :  महिलाओं से मुंबई में रेल ब्रिज पर छेड़छाड़ करने वाला अरेस्ट, जबरन छूता था व किस करके भाग जाता था

यह लेख MSMEs और Real Estate को ध्यान में रखते हुए, वित्तमंत्री ने अर्थव्यवस्था को बूस्ट करने के लिए 6 लाख करोड़ दिया सर्वप्रथम TFIPOST पर प्रकाशित हुआ है

शेष TFI पर पढ़े …

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार गोरखपुर। दिल्ली...

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद कमलेश पासवान

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद बांसगांव लोकसभा के सांसद कमलेश पासवान ने कास्त मिश्रौली निवासी भाजपा नेता...
%d bloggers like this: