CM योगी से मिले मुस्लिम धर्मगुरु, मस्जिद के लिए मांगी ऐसी जगह जहां बन सके इस्लामिक यूनिवर्सिटी

लखनऊ. अयोध्या विवाद (Ayodhya Dispute) पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का फैसला आने के बाद सोमवार शाम को शिया (Shiya) और सुन्नी (Sunni) मुस्लिम धर्मगुरुओं (Muslim CLerics) ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) से मुलाकात की. करीब एक घंटे चली इस मुलाक़ात के दौरान मुस्लिम धर्मगुरुओं ने मुख्यमंत्री से अयोध्या में मस्जिद के लिए ऐसी जमीन मांगी है, जहां इस्लामिक यूनिवर्सिटी का भी निर्माण हो सके. धर्मगुरुओं ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को प्रदेश में शांतपूर्ण ढंग से लागू कराने के लिए मुख्यमंत्री को बधाई भी दी.

अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहसिन रज़ा के नेतृत्व में वरिष्ठ शिया एवं सुन्नी धर्मगुरुओं का प्रतिनिधिमंडल ने सीएम योगी से मुलाकात की. इसमें प्रमुख धर्मगुरु मौलाना हमीदुल हसन, मौलाना सलमान हुसैन नदवी, मौलाना फरीदुल हसन, मौलाना यूसुफ हुसैनी के साथ 15 धर्मगुरुओं ने एक घंटे से ज्‍यादा समय तक सीएम से बातचीत की. मुस्लिम धर्मगुरुओं ने अयोध्या प्रकरण में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया और मुख्यमंत्री को इतने महत्वपूर्ण फैसले को शांतिपूर्ण तरीके से प्रदेश में लागू कराने पर बधाई दी.

मुख्यमंत्री ने सभी वरिष्ठ धर्मगुरुओं का शांति की अपील करने और आपसी सौहार्द्र बनाने में सहायता करने की दिशा में काम करने के लिए बधाई दी. उन्‍होंने सभी धर्मगुरुओं को प्रदेश के अल्पसंख्यकों के हितों को लेकर चलाई जा रही योजनाओं के बारे में भी जानकारी दी. इन योजनाओं को ज़्यादा से ज़्यादा अल्पसंख्यक समुदाय के कल्याण के लिए उपयोग करने के लिए जागरूकता फैलाने की भी अपील की. सीएम योगी ने अल्पसंख्यकों के विकास एवं उत्थान के लिए प्रदेश सरकार की ओर से हर संभव मदद मिलने का भी भरोसा दिलाया. साथ ही यह भी कहा की यदि अल्पसंख्यक समुदाय को अनावश्यक परेशान किया जाता है या कोई अधिकारी/कर्मचारी पक्षपात करे तो इसकी तत्काल सूचना उन्‍हें दी जाए.

Advertisements