Friday, September 17, 2021

गोरखपुर से वाराणसी मार्ग NH-29 बना मौत का कुँआ,जान हथेली पर लेकर चलें यहाँ..जूं तक नहीं रेंगती प्रशासन पर होगा बड़ा आंदोलन

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार गोरखपुर। दिल्ली...

Maharajganj: औकात में रहना सिखो बेटा नहीं तो तुम्हारे घर में घुस कर मारेंगे-भाजपा आईटी सेल मंडल संयोजक, भद्दी भद्दी गालियां फेसबुक पर वायरल।

Maharajganj: महाराजगंज जनपद में भाजपा द्वारा नियुक्त धानी मंडल संयोजक का फेसबुक पर गाली-गलौज और धमकी वायरल। फेसबुक पर धानी मंडल संयोजक...

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद कमलेश पासवान

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद बांसगांव लोकसभा के सांसद कमलेश पासवान ने कास्त मिश्रौली निवासी भाजपा नेता...

पूर्वांचल में मदद की परिभाषा बदलने का ऐतिहासिक कार्य कर रहे हैं युवा नेता पवन सिंह….

युवा नेता पवन सिंह ने मदद करने की परिभाषा पूरी तरह बदल दी है. उन्होंने मदद का दायरा इतना ज्यादा बढ़ा दिया...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

गोरखपुर में पिछले 2 दिन से हुई बारिश के कारण जहां आकाशीय बिजली से कई लोगों की जानें चली गई वहीं निर्माणाधीन राष्ट्रीय राजमार्ग 29 की भी स्थिति बद से बदतर हो गई है

मुख्यमंत्री के संसदीय शहर गोरखपुर से प्रधानमंत्री के संसदीय शहर वाराणसी को जोड़ने वाला प्रमुख मार्ग NH-29 जिस मार्ग से सांसद,विधायक,वरिष्ठ अधिकारी समेत अनेक Vvip लोगों का आगमन आए दिन होता हो उस मार्ग की जीती जागती कहानी आप तस्वीरों में देख सकते हैं तथा अत्यधिक अनुभव लेना हो तो आप इस मार्ग पर दो पहिया वाहन से चल सकते हैं निश्चित तौर पर आपको एक नया अनुभव प्राप्त होगा और हर पल खतरा मंडराता हुआ नजर आएगा

लगभग पूरा संसार अवगत हो गया होगा कि गोरखपुर से वाराणसी मार्ग पूरी तरह से गड्ढो में तब्दील हो चुका है । बाघा गाड़ा से लेकर बड़हलगंज तक के बीच में अनेकों जगह पर अधूरा निर्माण तोड़फोड़ और गड्ढों से भरा हुआ है।

बेलीपार क्षेत्र की बात करें तो मेहरौली से लेकर जंगल दिर्घन सिंह तक हालत बहुत ही बदतर है, हल्की सी भी बारिश होने के बाद मार्ग में कीचड़ और गड्ढों में पानी भर जाता है यही नहीं साइकिल और मोटरसाइकिल से गुजरने वालों के ऊपर कीचड़ भी पड़ जाते हैं व सूखा मौसम रहने पर सड़कों पर धूल का अंबार भी राहगीर झेलते हैं ।

ये भी पढ़े :  पूर्वांचल में टिड्डियों का फिर हमला, पहली बार बनारस के शहरी इलाके में दस्तक
ये भी पढ़े :  सपा के पूर्व मुख्यमंत्री ने पिपराईच क्षेत्र के मिश्रौलिया गाँव मे पीड़ित परिवार को भेजा 2 लाख का चेक...

इस अत्यंत कठिन मार्ग पर छोटे वाहनों से लेकर बड़े वाहन चलने लायक नहीं है ज्यादातर बड़े वाहन गड्ढों में फंस जाते हैं तो छोटे वाहन क्षतिग्रस्त हो जाते हैं कभी कभी किसी एम्बुलेंस में जा रहे या अपने साधन से जा रहे लोगों की मृत्यु तक भी हो जाती है और आए दिन दुर्घटनाएं होती हैं, ऐसा ही कोई दिन बचता है जिस दिन इस रोड पर कोई दुर्घटना ना होती हो जबसे यह मार्ग निर्माणाधीन है तब से आज तक के बीच में लगभग लगभग सैकड़ों लोगों की जान जा चुकी है ।

किसी भी दृष्टिकोण से रोड पर कोई सुरक्षित गुजर नहीं सकता । निर्माणाधीन मार्ग में जहां पर कुछ निर्माण किए गए हैं जैसे कि मेहरौली से लेकर चारपानी तक उसमें भी रोड के नीचे से मिट्टी खिसक चुकी है जिसकी रिपेयरिंग की भी आवश्यकता है अन्यथा कोई बड़ा हादसा हो सकता है, गोरखपुर से वाराणसी मार्ग के बदहाली को देखते हुए भारतीय किसान यूनियन(अ०) हरपाल गुट के मंडल अध्यक्ष लक्ष्मीचंद शुक्ला व जिला अध्यक्ष श्रीचंद शुक्ला ने गोरखपुर टाइम्स के सत्य चरण लक्की को बताया कि हमारे नेतृत्व में क्षेत्र के सैकड़ों किसानों के साथ अनेकों बार आंदोलन किए जा चुके हैं कभी रोड पर धान रोपण करना तो कभी अधिकारियों को ज्ञापन देने के साथ-साथ प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया और सोशल मीडिया जैसे फेसबुक,ट्विटर, इंस्टाग्राम, यूट्यूब, पब्लिक एप्प आदि समेत अनेको तकनीकी माध्यमों द्वारा भी आवाज उठाया जाता है ।

ये भी पढ़े :  एक दो नहीं गोरखपुर का यह सख्स पूरे 19 गाँव की अपनी जेब से उठा रहा जिम्मेदारी,नाम है....

उन्होंने आगे बताया कि इतनी देर व्यवस्थाओं के बाद भी शासन-प्रशासन एकदम से सुस्त पड़ा है और इसके ठेकेदार भी मस्त लापरवाह पड़े हैं । समस्या को गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है। अभी कुछ महीने पूर्व धीमी निर्माण गति को लेकर गोरखपुर मंडल आयुक्त द्वारा व मुख्यमंत्री के द्वारा ठेकेदारों को 2 माह के अंदर एक लेन पूर्ण करने के लिए अल्टीमेटम भी दिया गया था परंतु इसका भी कोई असर नहीं हुआ है शासन प्रशासन की लापरवाही व सुस्त निर्माण के साथ- साथ एनएचआई के ठेकेदार की लापरवाही को देखते हुए भारतीय किसान यूनियन लगातार माँग कर रहा है कि इसके तत्कालिक ठेकेदार का ठेका रद्द करते हुए किसी दूसरे अच्छे कार्य दाई संस्था को ठेका दिया जाए अन्यथा जिस प्रकार से धीमी गति से निर्माण कार्य चल रहा है नियत समय में निर्माण कार्य पूरा होना असंभव है जब तक कि किसी अच्छे कार्य दाई संस्था से कार्य नहीं कराया जाएगा तब तक ना ही कार्य पूर्ण होगा और ना ही जनहित में होगा भारतीय किसान यूनियन की मांगे पूरी ना होने पर भारतीय किसान यूनियन हजारों किसानों के साथ बड़ा आंदोलन करने के लिए बाध्य होगा जिसकी सारी जिम्मेवारी शासन और प्रशासन की होगी ।

ये भी पढ़े :  भगवान पर भी कोरोना का भय,पुजारी ने पहनाया मास्क

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार गोरखपुर। दिल्ली...

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद कमलेश पासवान

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद बांसगांव लोकसभा के सांसद कमलेश पासवान ने कास्त मिश्रौली निवासी भाजपा नेता...
%d bloggers like this: