Sunday, April 11, 2021

ऑपरेशन के दौरान डॉक्टर ने काट डाला नवजात का सिर, मां-बच्चे दोनों की मौत

दिनेश पांडेय एक बार फ़िर से सिधुवापार के प्रत्याशी के रूप में हुए सक्रिय

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की शुरुआत होने के साथ ही जगह जगह प्रत्याशियों के द्वारा प्रचार प्रसार किया...

सांसद रवि किशन ने जिला।चिकित्सालय गोरखपुर में लिया कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लगवाया..

वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव हेतु गोरखपुर के सदर सांसद एवं अभिनेता रवि किशन ने आज गोरखपुर नेताजी...

कौड़ीराम से जितेंद्र सिंह (बबुआ) ने चुनाव प्रचार में झोंकी ताकत

जितेंद्र सिंह (बबुआ) ने चुनाव प्रचार में झोंकी ताकत पूर्व प्रत्याशी अजय सिंह व जे.के. सिंह ने दिया समर्थन

यूपी बोर्ड 2021: हाईस्कूल और इंटर की परीक्षाएं आठ मई से, स्कीम जारी

लखनऊ. यूपी बोर्ड 2021 के हाईस्कूल और इंटर की परीक्षाएं अब 24 अप्रैल की जगह आठ...

Cm योगी के गढ़ गोरखपुर में किस्मत आजमाने उतरी आप, जारी की पंचायत सदस्य प्रत्याशियों की चौथी सूची

योगी के गढ़ में किस्मत आजमाने उतरी आप ने जारी की पंचायत सदस्य प्रत्याशियों की चौथी सूचीगोरखपुर---मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गढ़ में...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

खगड़िया. बिहार के खगड़िया जिला स्थित महेशखुंट थाना क्षेत्र में प्राइवेट क्लिनिक की लापरवाही से जच्चा और बच्चा दोनों की मौत हो गई. गर्भवती महिला संजू देवी का प्रसव के दौरान ऑपरेशन करना पड़ा. ऑपरेशन के दौरान डॉक्टर ने बच्चे का सिर ही काट दिया, जिससे जहां नवजात की मौत हो गई, वहीं प्रसूता महिला की भी मौत कुछ देर में हो गई. इस घटना के बाद अस्पताल पर कार्रवाई की मांग को लेकर परिजनों ने महेशखुंट में एनएच 107 को जाम कर दिया.

ये भी पढ़े :  कोरोना वायरस (Coronavirus) और आम जुकाम-बुखार में कैसे फर्क पहचानें

घटना के बाद गोगरी एसडीओ सुभाष चन्द्र मंडल और डीएसपी पीके झा समेत कई अधिकारी पहुंचे और जाम कर रहे लोगों को समझा कर प्रदर्शन समाप्त करवाया. गोगरी के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी का कहना है घटना के बाद पीड़ित के आवेदन पर क्लिनिक को सील कर उसके संचालक समेत आधा दर्जन स्टाफ पर मामला दर्ज किया जा रहा है.

घटना के संबंध मे बताया जाता है कि परबत्ता प्रखंड के महद्दीपुर गांव के अमित कुमार ने अपनी पत्नी संजू देवी को डिलिवरी कराने के लिए टाटा इमरजेन्सी हास्पीटल में भर्ती कराया था, लेकिन अस्पताल प्रशासन ने ऑपरेशन के दौरान बच्चे का गला ही काट दिया. उसके बाद बच्चे को बाहर निकाला गया. इसी दौरान महिला की भी तबियत बिगड़ने लगी, जिसके बाद उनकी भी मौत हो गई.

ये भी पढ़े :  मंडलायुक्त नें कोविड सैंपलिंग की संख्या बढ़ाने का दिशा निर्देश दिया....

संचालक और अस्पताल कर्मी फरार
जच्चा-बच्चा की मौत की खबर जैसे ही परिवारवालों को मिली सभी लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया. परिवारवालों के हंगामा करते देख अस्पताल संचालक और कर्मचारी क्लीनिक छोङकर फरार हो गये हैं. बता दें कि खगड़िया डीएम के निर्देश पर कई बार फर्जी नर्सिंग होम्स पर कार्रवाई हुई है, लेकिन जिला में दो दर्जन से अधिक बिना लाइसेंस के नर्सिंग होम खुले हुए हैं, जिसके खिलाफ स्वास्थ्य विभाग कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है.

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

बुजुर्ग माता-पिता की सेवा नहीं की तो संपत्ति से होंगे बेदखल

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार अब बुजुर्ग माता-पिता के हित में नया कानून लाने की तैयारी में है। योगी सरकार अब...

जज्बे को सलाम : प्रसव के 6 घंटे बाद नवजात के साथ इंटर की परीक्षा देने पहुंची छात्रा

बिहार के सारण जिले के तरैया रेफरल अस्पताल में मंगलवार सुबह 6 बजकर 22 मिनट पर बच्ची...
%d bloggers like this: