Tuesday, September 28, 2021

Opinion- चुनावी खर्चे में कमी के लिए पार्टियां भरसक करें डिजिटल सभाएं

Maharajganj: हड़हवा टोल प्लाजा पर भेदभाव हुआ तो होगा आन्दोलन।

फरेन्दा, महराजगंज: फरेन्दा नौगढ़ मार्ग पर स्थित हड़हवा टोल प्लाजा पर प्रबन्धक द्वारा कुछ विशेष लोगो को छोड़ बाकी सबसे टोल टैक्स...

Maharajganj: बृजमनगंज थाना क्षेत्र में चोरों के हौसले बुलंद, लोग पूछ रहे सवाल क्या कर रहे हैं जिम्मेदार

बृजमनगंज, महाराजगंज. थाना क्षेत्र में पुलिस की निष्क्रियता के चलते चोरों के हौसले बुलंद है. जिसके कारण चोरी की घटनाएं बढ़ रही...

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार गोरखपुर। दिल्ली...

Maharajganj: औकात में रहना सिखो बेटा नहीं तो तुम्हारे घर में घुस कर मारेंगे-भाजपा आईटी सेल मंडल संयोजक, भद्दी भद्दी गालियां फेसबुक पर वायरल।

Maharajganj: महाराजगंज जनपद में भाजपा द्वारा नियुक्त धानी मंडल संयोजक का फेसबुक पर गाली-गलौज और धमकी वायरल। फेसबुक पर धानी मंडल संयोजक...

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

राजनीतिक समां बांधाने के लिए राजनीतिक दल हर बार बड़ी -बड़ी चुनावी सभाएं करते हैं। उन पर बहुत सारे पैसे खर्च होते हैं।

New Delhi, Jun 05 : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह सात जून को बिहार में ‘डिजिटल रैली’ करेंगे। यानी, वे डिजिटल माध्यमों के जरिए प्रदेश के भाजपा कार्यकत्र्ताओं और आम लोगों को संबोधित करेंगे। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ‘मन की बात’ ऐसे ही माध्यमों के जरिए लोगों तक पहुंचाते रहे हैं। इसी 3 जून को मुख्य मंत्री नीतीश कुमार ने पटना से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए मुजफ्फरपुर में स्थापित जार्ज फर्नांडिस की मूत्र्ति का अनावरण किया। कोरोना महामारी ने कुछ खास तरह की स्थिति पैदा कर दी है। फिलहाल उसी में जीना है।

ये भी पढ़े :  Kisan Protest: भैंस के आगे बीन बजाकर किसानों ने किया कृषि कानूनों का विरोध।।

पर, इस विपत्ति को वरदान बनाया जा सकता है। बिहार में विधान सभा चुनाव की तैयारी शुरू हो चुकी है। अक्तूबर-नवंबर में चुनाव होने हैं। राजनीतिक समां बांधाने के लिए राजनीतिक दल हर बार
बड़ी -बड़ी चुनावी सभाएं करते हैं। उन पर बहुत सारे पैसे खर्च होते हैं। यदि चुनाव तक कोरोना की महामारी थम गई तो वही होगा जो पहले भी होता रहा है। पर यदि नहीं थमी तो अनेक नेताओं व दलों को भरसक डिजिटल सभाओं से संतोष करना पड़ेगा। जो कमी रहेगी,उसे राजनीतिक दलों के कार्यकत्र्तागण पूर्ण करेंगे।

ये भी पढ़े :  महाराजगंज जनपद में बनाये गए तीन नए नगर पंचायतों में प्रशासक नियुक्त...

डिजिटल सभाओं का क्यों न हो स्थायी प्रचलन!
इस गरीब देश में आम सभाओं और चुनावी सभाओं का डिजिटल संस्करण विकसित होने लगे तो राजनीति पर हो रहे धुआंधार खर्चों में कमी आ सकती है। वे पैसे गंभीर व ईमानदार राजनीतिक कार्यत्र्ताओं को जीवन निर्वाह भत्ता देने के काम आ सकते हैं। इससे संभवतः राजनीति में शुचिता लाई जा सकेगी। आज तो अधिकतर राजनीतिक कार्यकत्र्ताओं को अपने जीवन निर्वाह के लिए ‘‘तरह-तरह’’ के काम करने पड़ते हैं। या फिर किसी ‘‘उम्मीद’’ में उन्हें अपने घर का आटा गीला करना पड़ता है। जो टिक नहीं पाते ,वे राजनीति को बीच में ही छोड़कर किसी अन्य काम में लग जाते हैं।

अनेक कार्यकत्र्ताओं को राजनीति में बनाए रखने के लिए उन्हें सांसद-विधायक फंड की ठेकेदारी दिलवा दी जाती है। ठेकेदार -सह – राजनीतिक कार्यकत्र्ता राजनीति की बेहतर छवि पेश नहीं करते। अनेक संासद-विधायकों का तर्क है कि सांसद-विधायक फंड को बनाए रखने की मजबूरी है। क्योंकि उसी से राजनीतिक कार्यकत्र्ताओं के गुजारे के लिए कुछ पैसे निकलते हैं। पर, बड़ी- बड़ी खर्चीली जन सभाओं और चुनावी सभाओं पर होने वाले खर्चे के पैसे बचाकर कार्यकत्र्ताओं को दिए जाएं तो क्या हर्ज है ? इसलिए जो सभाएं डिजिटल माध्यमों से संभव हों, उनसे शुरूआत तो हो जाए !

ये भी पढ़े :  भारत में बने कोरोना टीके को पाकिस्तान ने दी मंजूरी पर मोदी से मांगने में आ रही है शर्म, जानिए कैसे निकाल रहे हैं जुगाड़
ये भी पढ़े :  भारत में बने कोरोना टीके को पाकिस्तान ने दी मंजूरी पर मोदी से मांगने में आ रही है शर्म, जानिए कैसे निकाल रहे हैं जुगाड़
(वरिष्ठ पत्रकार सुरेन्द्र किशोर के फेसबुक वॉल से साभार, ये लेखक के निजी विचार हैं)

The post Opinion- चुनावी खर्चे में कमी के लिए पार्टियां भरसक करें डिजिटल सभाएं appeared first on INDIA Speaks.

शेष इंडिया स्पीक्स पर

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

Maharajganj: तेज तर्रार नेता नितेश मिश्र भाजपा छोड़ थामा सपा का दामन, आपने सैकड़ों समर्थकों के साथ ली सदस्यता

Maharajganj/Dhani: धानी ब्लॉक के डेढ़ सौ लोगो ने पूर्व भाजपा नेता नीतेश मिश्र के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी की सदस्यता लिया। प्राप्त...

भाजपा युवा मोर्चा गोरखपुर क्षेत्र के क्षेत्रीय कार्यकारिणी की हुई घोषणा,सूरज राय बने क्षेत्रीय उपाध्यक्ष

Gorakhpur: आज भारतीय जनता युवा मोर्चा गोरखपुर क्षेत्र की क्षेत्रीय कार्यकारिणी की घोषणा हुई।।युवा मोर्चा के क्षेत्रीय अध्यक्ष पुरुषार्थ सिंह ने आज...

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...
%d bloggers like this: