Tuesday, October 26, 2021

हर 100 साल में होती है कोरोना जैसी महामारी, आंकड़ें देख आप भी कहेंगे- ये प्रकृति का अपना तरीका है!

समाजवादी छात्रसभा महानगर गोरखपुर ने गोरखपुर विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर चलाया सदस्यता अभियान!

Gorakhpur: समाजवादी छात्रसभा महानगर गोरखपुर ने गोरखपुर विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर चलाया सदस्यता अभियान! आज गोरखपुर विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर...

Mrj: अधिकरियो के रहमो-करम पर दबंगों द्वारा चकनाले की जमीन पर बिना मान्यता प्राप्त विद्यालय का किया जा रहा है संचालन, बच्चों का भविष्य...

Maharajganj/Dhani: युवा समाजसेवी अजय कुमार का कहना है कि धानी ब्लाक के अन्तर्गत एक विद्यालय साधु शरण गंगोत्री देवी लेदवा रोड बंगला...

साष्टांग प्रणाम यात्रा पे निकला बांसी से लेहड़ा मंदिर – भक्त रामशब्द लोधी

Maharajganj/ SiddharthNagar: बांसी क्षेत्र के अंतर्गत राम गोहार गाँव से रामशब्द लोधी ने लगातार तेरह वर्षों से नवमी में सष्टांग प्रणाम यात्रा...

Maharajganj: हड़हवा टोल प्लाजा पर भेदभाव हुआ तो होगा आन्दोलन।

फरेन्दा, महराजगंज: फरेन्दा नौगढ़ मार्ग पर स्थित हड़हवा टोल प्लाजा पर प्रबन्धक द्वारा कुछ विशेष लोगो को छोड़ बाकी सबसे टोल टैक्स...

Maharajganj: बृजमनगंज थाना क्षेत्र में चोरों के हौसले बुलंद, लोग पूछ रहे सवाल क्या कर रहे हैं जिम्मेदार

बृजमनगंज, महाराजगंज. थाना क्षेत्र में पुलिस की निष्क्रियता के चलते चोरों के हौसले बुलंद है. जिसके कारण चोरी की घटनाएं बढ़ रही...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया है. पहले इस वायरस की चपेट में चीन आया, जिसके बाद इस वायरस ने इटली को अपनी चपेट में लिया और अब अमेरिका और भारत समेत कई देश इसकी चपेट में आ गए हैं. सरकारें इस वायरस से अपने नागरिकों की जान बचाने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा रही हैं. इस महामारी से बचने का केवल एक ही तरीका है- लोगों से दूरी. लेकिन आपको संभवतः यह पता नहीं होगा कि दुनिया में कोरोना जैसी महामारी पहली बार नहीं आई है. इस प्रकृति का अपना तरीका कहें या फिर कुछ और… लेकिन दुनिया को हर 100 साल में कोरोना जैसी महामारी का सामना करना पड़ा है. ये सिलसिला पिछले 400 सालों से चलता आ रहा है. आइए जानतें हैं 400 सालों से लोगों को किन-किन महामारियों का सामना करना पड़ा है.

प्लेग-
फ्रांस के एक छोटे से शहर मॉर्साइल में 1720 में फैली प्लेग महामारी ने 1 लाख से ज्यादा लोगों की जान ले ली. प्लेग फैलते ही कुछ महीनों में 50 हजार लोगों की मौत हो गई. बाकी 50 हजार लोग अगले दो सालों में मारे गए. बता दें कि उस समय लोगों को इस बीमारी का पता ना होने के कारण यह कई शहरों और प्रांतों में फैलती गई और लोगों को अपनी चपेट में लेती गई. धीरे-धीरे ये बीमारी बाकी देशों में भी फैली. इसने माल्टा में 1679, विएना में 76,000 प्राग में 83 हजार लोगों की जान ली. यह महामारी इतनी भीषण थी कि इससे 10,000 की आबादी वाले ड्रेस्डेन नगर में 4,397 नागरिक इसके शिकार हो गए.

ये भी पढ़े :  भोजपुरी सुपरस्टार रवि किशन ने कहा, किसान का बेटा हूं, गेहूं तक काट चुका हूं, जीता तो गाँव में खोलूंगा रंगमंच....
ये भी पढ़े :  मशहूर शायर 'राहत इंदौरी' कोरोना पॉजिटिव,हॉस्पिटल में हुए भर्ती....

बताते चले कि प्लेग ने भारत पर भी आक्रमण किया. इस बीमारी से संपूर्ण भारत में दहशत क माहौल पैदा हो गया. यह महामारी पाली से मेवाड़ पहुंची, फिर मेवाड़ में इस महामारी ने इतना तांडव मचाया कि लोग डरने लगे. ये चूहों से फैली महामारी थी. इस महामारी से हालात यह थे कि अस्पताल पहुंचने से पहले भी लोगों की मौत हो जाया करती थी.

एक सरकारी रिपोर्ट के मुताबिक, इस महामारी से 1800 करोड़ का नुकसान हुआ. प्लेग एक ऐसा संक्रमण था जो जानवरों से इंसानों में पहुंचता है. इस महामारी से बचने के लिए गुजरात के सूरत में हजारों लोगों ने पलायन किया था. पलायन की शुरुआत गुजरात के सूरत से शुरू हुई थी. यहां रहने वाले लोग जब प्लेग की चपेट में आकर मरने लगे तो यूपी और बिहार से आकर यहां बसने वाले लोग भी अपने घरों को पलायन करने लगे. इस महामारी से देखते ही देखते सूरत से 25 फीसदी आबादी बाहर चली गई. उस दौर में भी लोगों को आइसोलेश की हिदायत दी गई थी.

कॉलेरा-

प्लेग महामारी के 100 साल बाद 1820 में एशियाई देशों में कॉलेरा मे महामारी का रूप लिया. इस महामारी ने जापान, भारत, बैंकॉक, मनीला, ओमान, चीन, सीरिया आदि देशों तो अपनी चपेट में ले लिया. बता दें कि कॉलेरा की वजह से सिर्फ जावा में 1 लाख लोगों की जान चली गई. इस महामारी से सबसे ज्यादा मौतें थाईलैंड, इंडोनेशिया और फिलीपींस में हुई थी.

स्पैनिश फ्लू

कॉलेरा महामारी के 100 साल बाद 1920 में स्पैनिश फ्लू ने अपने पैर पसारे. बताया जाता है कि इस महामारी की वजह से पूरी दुनिया में 1.70 करोड़ से 5 करोड़ लोगों की जान चली गई थी. माना जाता है कि यह वायरस अमेरिका से फैला था. उस समय विश्व युद्ध का समय था और यह फ्लू अमेरिकी सैनिकों से यूरोप में फैला था. भारत में स्पैनिश फ्लू को बॉम्बे फीवर के नाम से जाना गया. एक अनुमान के मुताबिक भारत में इस महामारी से लगभग एक से दो करोड़ लोगों की जान चली गई थी. उस समय इस महामारी की कोई वैक्सीन ना होने के चलते सरकार ने लोगों को आइसोलेट करके वायरस को काबू में पाया था.

ये भी पढ़े :  कोरोना को लेकर खुशखबरी हैं: बन गई कोरोना की वैक्सीन, बढ़ा रही वायरस से लड़ने की ताकत

कोरोना वायरस

वहीं, एक बार फिर 100 साल पुराना इतिहास दोहराया गया है और 2020 में कोरोना वायरस महामारी सामने आई है. चीन से फैले इस वायरस के मामले दस लाख से अधिक हो गए हैं, जबकि 51 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. एएफपी द्वारा गुरुवार रात जारी आँकड़ों के अनुसार यह जानकारी सामने आई है. दुनियाभर के 188 देशों में कोरोना वायरस से संक्रमण (कोविड-19) के कम से कम 10,00,036 मामले दर्ज किए गए हैं और अब तक 51,718 लोगों की मौत हो चुकी है. चीन से फैले कोरोन वायरस का सबसे ज्यादा असर इटली के बाद अब अमेरिका में देखा जा रहा हैं. इस खतरनाक वायरस ने अमेरिका को बेबस कर दिया है. यहां एक दिन में मरने वालों की संख्या 1169 हुई. यह जानकारी एएफपी न्यूज एजेंसी ने दी. इसी के साथ अमेरिका में मौत का आंकड़ा भी 6000 को पार कर गया है. अब तक यहां कोरोना वायरस के चलते 6070 मौतें हो चुकी हैं.

ये भी पढ़े :  इस देश की राजकुमारी की कोरोना से मृत्यु, हम आप तो आम जनता हैं। घर मे रहिये भाई..

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

Maharajganj: तेज तर्रार नेता नितेश मिश्र भाजपा छोड़ थामा सपा का दामन, आपने सैकड़ों समर्थकों के साथ ली सदस्यता

Maharajganj/Dhani: धानी ब्लॉक के डेढ़ सौ लोगो ने पूर्व भाजपा नेता नीतेश मिश्र के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी की सदस्यता लिया। प्राप्त...

शहीद के बेटे नीतीश 15 अगस्त को यूरोप महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी माउंट एलब्रुस पर फहराएंगे तिरंगा, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सौपा...

Gorakhpur: गोरखपुर के राजेन्द्र नगर के रहने वाले युवा पर्वतारोही नीतीश सिंह 15 अगस्त को यूरोप महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी माउंट...

Maharajganj: सपा नेता राम प्रकश सिंह के नेतृत्व में निकाली गई साईकिल रैली

Maharajganj: समाजवादी पार्टी महाराजगंज के कार्यकर्ताओं ने स्वर्गीय जनेश्वर मिस्र के जयंती के शुभ अवसर पर समाजवादी साईकिल यात्रा का आयोजन फरेंदा...
%d bloggers like this: