Wednesday, April 8, 2020

Pariksha pe Charcha 2020 : पीएम मोदी ने दिया गुरु मंत्र , विफलताओं में भी सफलता की शिक्षा , बोले , चंद्रयान फेल हुआ तो मैं चैन से सो नहीं पाया

परीक्षा पे चर्चा ‘ कार्यक्रम की शुरुआत में पीएम मोदी ने कहा कि मेरे और आपके बीच की ये बातचीत हैशटैग विदआउट फिल्टर है । राजस्थान की यश श्री के पूछे सवाल के जवाब में पीएम मोदी ने कहा कि जीवन में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति हो , जिसे इस दौर से गुजरना न पड़ा हो । हर किसी को इस दौर से गुजरना पड़ता है । कभी – कभी विफलता हमें ऐसा कर देती है ।

इस संदर्भ में चंद्रयान मिशन का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि चंद्रयान की असफलता के कारण पूरा देश निराश हो गया । उन्होंने कहा , ‘ चंद्रयान मिशन के अंतिम समय पर वैज्ञानिकों के चेहरे पर तनाव था । मैं उनके चेहरे को देखकर समझ गया कि कोई अनहोनी हो रही है । कुछ देर बाद बताया गया कि चंद्रयान सफल नहीं हुआ । मैं होटल आ गया , सोने का मन नहीं किया । चंद्रयान फेल होने के बाद चैन से सो नहीं पा रहा था । टीम अपने अपने कमरे में चली गई । अगले दिन सुबह मैं सभी वैज्ञानिकों से मिला । उनकी सरहना की , इससे उनका मनोबल बढ़ा ‘ । इससे पूरे देश का माहौल बदल गया । विफलताओं में भी सफलता की शिक्षा पा सकते हैं । किसी चीज में आप विफल रहे इसका मतलब है कि आप सफलता की ओर अग्रसर है । लेकिन रुक गए तो वहीं रह गए ।

ये भी पढ़े :  रोजगार मेला २४ को

आपको बता दें कि पहली बार देश के विभिन्न हिस्सों से 50 दिव्यांग छात्र इस कार्यक्रम में शामिल हुए हैं । इन दिव्यांग बच्चों का चयन परीक्षा के तनाव से निपटना विषय पर एक पेंटिंग प्रतियोगिता के जरिए किया गया । आयोजन स्थल पर सर्वश्रेष्ठ पेंटिंग का प्रदर्शन भी किया गया । पीएम मोदी ने चर्चा से पहले इन पेंटिंग्स भी देखीं ।

Surya Srivastava

Gorakhpur Times Media

Advertisements
%d bloggers like this: