Thursday, October 21, 2021

गोरखपुर के युवा उद्यमी ने पत्तों से बनी प्लेट को बाजार में उतारा,लोगों को मिलेंगे लाखों रुपये के रोजगार

Mrj: अधिकरियो के रहमो-करम पर दबंगों द्वारा चकनाले की जमीन पर बिना मान्यता प्राप्त विद्यालय का किया जा रहा है संचालन, बच्चों का भविष्य...

Maharajganj/Dhani: युवा समाजसेवी अजय कुमार का कहना है कि धानी ब्लाक के अन्तर्गत एक विद्यालय साधु शरण गंगोत्री देवी लेदवा रोड बंगला...

साष्टांग प्रणाम यात्रा पे निकला बांसी से लेहड़ा मंदिर – भक्त रामशब्द लोधी

Maharajganj/ SiddharthNagar: बांसी क्षेत्र के अंतर्गत राम गोहार गाँव से रामशब्द लोधी ने लगातार तेरह वर्षों से नवमी में सष्टांग प्रणाम यात्रा...

Maharajganj: हड़हवा टोल प्लाजा पर भेदभाव हुआ तो होगा आन्दोलन।

फरेन्दा, महराजगंज: फरेन्दा नौगढ़ मार्ग पर स्थित हड़हवा टोल प्लाजा पर प्रबन्धक द्वारा कुछ विशेष लोगो को छोड़ बाकी सबसे टोल टैक्स...

Maharajganj: बृजमनगंज थाना क्षेत्र में चोरों के हौसले बुलंद, लोग पूछ रहे सवाल क्या कर रहे हैं जिम्मेदार

बृजमनगंज, महाराजगंज. थाना क्षेत्र में पुलिस की निष्क्रियता के चलते चोरों के हौसले बुलंद है. जिसके कारण चोरी की घटनाएं बढ़ रही...

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार गोरखपुर। दिल्ली...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

गोरखपुर के युवा उद्यमी ने पत्तों से बने विशेष प्रकार के प्लेट को बाजार में उतारा है पत्तल ब्रांड के अंतर्गत बाजार में आया यह प्लेट पर्यावरण संरक्षण के साथ-साथ गोरखपुर की महिलाओं एवं प्राचीन पत्तल बनाने के कार्य से जुड़े लोगों के लिए रोजगार का एक नया अवसर प्रदान कर रहा है|

ये भी पढ़े :  खोवा के नाम पर गोरखपुर में सजी है मिलावट की मंडी,लेते समय रहे सावधान.....


ब्रांड पत्तल भारत की प्राचीन परंपरा को नए आधुनिक एवं लग्जरी स्वरूप में लोगों के समक्ष पेश करता है प्राचीन परंपराओं को आधुनिक स्वरूप में पेश करता है यह प्लेट पूर्णता प्राकृतिक एवं आयुर्वेद की दृष्टि से स्वास्थ्यवर्धक होने के साथ-साथ पूरी तरह प्लास्टिक एवं वैक्स कोटिंग रहित है।


भारत की प्राचीन परंपरा में पत्तल का प्रयोग प्राचीन काल से होता रहा है परंतु लचीला एवं छिद्र युक्त होने के कारण आधुनिक दौरे में बुफे सिस्टम के चलने से पत्तल की उपयोगिता पूर्णत समाप्त हो चुकी थी और इसका स्थान पर्यावरण एवं स्वास्थ्य को हानि पहुंचाने वाले सस्ते प्लास्टिक एवं थर्माकोल के प्लेटो ने ले लिया था ।

ये भी पढ़े :  7 साल की बच्ची करोना से जंग जीत कर घर लौटी फूल माला हुआ स्वागत

पत्तल की इन्हीं कमियों को पूरा को दूर करके पर्यावरणविद विक्रांत तिवारी द्वारा पत्तों से बने हुए ऐसे प्लेटो को बाजार में लाया गया जो ना सिर्फ लीकेज मुक्त हैं के साथ ही साथ यह इतनी मजबूत भी हैं कि इन्हें खड़े होकर बूफे में प्रयोग किया जा सकता है।


तीन पत्ती में फाइबर से बनी होने के कारण यह प्लेट प्राकृतिक रूप से तीन से चार हफ्तों में पूर्णता गल के के नष्ट हो जाते हैं बाजार में इसकी मांग बढ़ने के साथ ही अब उनकी योजना इसे बाहर इंपोर्ट करने की भी है।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

गोरखपुर:- बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बोरे में भरकर लाश को ठिकाने लगाने ले जा रहे जीजा साले को पुलिस ने किया गिरफ्तार गोरखपुर। दिल्ली...

खुशखबरी:-सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक को मंजूरी 1320 करोड़ स्वीकृत

गोरखपुर के लिहाज़ से एक बड़ी ख़बर प्राप्त हो रही है जिसमे यह बताया जा रहा है कि सहजनवा दोहरीघाट रेलवे ट्रैक...

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद कमलेश पासवान

दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: सांसद बांसगांव लोकसभा के सांसद कमलेश पासवान ने कास्त मिश्रौली निवासी भाजपा नेता...
%d bloggers like this: