Friday, July 30, 2021

112 पर झूठी सूचना देकर पुलिस वालों को परेशान किया तो खैर नहीं

Maharajganj: दबंग पंचायत मित्र द्वारा किया जा रहा है अवैध नाली का निर्माण।

महराजगंज- फरेंदा ब्लॉक के अंतर्गत ग्राम सभा पिपरा तहसीलदार में पंचायत मित्र द्वारा अपने व्यक्तिगत नाली का निर्माण ग्राम सभा के मुख्य...

पुलिस अधीक्षक द्वारा की गयी मासिक अपराध गोष्ठी में अपराधों की समीक्षा व रोकथाम हेतु दिये गये आवश्यक दिशा-निर्देश

Maharajganj: पुलिस अधीक्षक महराजगंज प्रदीप गुप्ता द्वारा आज दिनांक 17.07.2021 को पुलिस लाइन्स स्थित सभागार में मासिक अपराध गोष्ठी में कानून-व्यवस्था की...

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...

Maharajganj: CO सुनील दत्त दूबे द्वारा कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस महानिदेशक जोन गोरखपुर ने प्रशस्ति पत्र से नवाजा।

Maharajganj/Farenda: सीओ फरेन्दा सुनील दत्त दूबे को थाना पुरन्दरपुर में नवीन बीट प्रणाली के क्रियान्वयन में कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस...

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

झूठी सूचना देकर पुलिस को परेशान करने वालों की खैर नहीं

ADG ने तैयार कराई लिस्‍ट,अब होगी कार्रवाई…

जो घटना हुई ही नहीं, उसकी झूठी सूचना मिलने से वर्ष 2020 में गोरखपुर पुलिस सबसे ज्यादा परेशान रही। पूरे साल में गोरखपुर पुलिस को 1852 झूठी सूचनाएं दी गईं। इसमें पुलिस का न सिर्फ समय जाया हुआ बल्कि संशाधनों का भी दुरुपयोग हुआ। अब झूठी सूचना देने वालों के खिलाफ निरोधात्मक कार्रवाई की तैयारी शुरू हो गई है। एडीजी डायल 112 असीम अरुण ने पिछले दिनों अपने गोरखपुर दौरे के दौरान कार्रवाई के निर्देश दिए थे। इसी क्रम में पुलिस ने पूरे डाटा जुटाया है। पता चला है कि इसमें कुछ ऐसे भी लोग हैं, जिन्होंने एक से ज्यादा बार झूठी सूचनाएं दी हैं।


पुलिस सूत्रों के मुताबिक, झूठी सूचनाओं में हत्या, हत्या के प्रयास और अपहरण तक की झूठी सूचनाएं अच्छी-खासी संख्या में आई हैं। पिपराइच में बालक बलराम के अपहरण और हत्या के दौरान ही पुलिस को कई और बच्चों के अपहरण की सूचना मिली थी। चूंकि उस अपहरण ने पुलिस की काफी बदनामी कराई थी लिहाजा अन्य घटनाओं की सूचना से पीआरवी ही नहीं थाना पुलिस और अफसर भी इस दौरान काफी परेशान रहे। एक आंकड़े के मुताबिक अपहरण की 112 से ज्यादा झूठी सूचनाएं दी गई वहीं हत्या में भी दर्जनभर सूचनाएं फर्जी आईं, जबकि हत्या के प्रयास में यह संख्या सैकड़ों में रही।
इस तरह से होगी कार्रवाई

ये भी पढ़े :  खुशखबरी ! जीतिए 51000 रुपये, जनपद स्तर पर होगी चौरी-चौरा थीम सांग प्रतियोगिता
ये भी पढ़े :  श्री राम मंदिर निर्माण के नाम पर गोरखपुर में वसूली,फर्जीवाड़ा करने वाले के खिलाफ पड़ी तहरीर


झूठी सूचना की सभी 1852 कॉल की लिस्ट बना ली गई है। उसके हिसाब से मोबाइल नम्बर दर्ज किए गए हैं। अब इसमें यह देखा जा रहा है कि कितने लोग ऐसे हैं, जिन्होंने एक बार से अधिक झूठी सूचनाएं देकर पुलिस को परेशान किया है। ऐसे सभी लोग अब निरोधात्मक कार्रवाई के दायरे में आएंगे। यही नहीं, ये सारे नम्बर रिकॉर्ड में दर्ज किए जाएंगे और आगे चलकर अगर इन नम्बरों से कोई झूठी सूचना फिर आती है तो उन पर कार्रवाई का सिलसिला शुरू हो जाएगा। एक बार गलती करने वाले नम्बरों की जांच में अगर यह साबित हो गया है कि उसने जानबूझ कर गलती नहीं की है तो उसे एक मौका मिलेगा लेकिन नम्बर हमेशा रिकॉर्ड में दर्ज रहेगा।

एडीजी ने दिए हैं मुकदमे के निर्देश

दिसम्बर महीने के आखिरी सप्ताह में गोरखपुर आए एडीजी असीम अरुण ने कहा था कि अगर कोई झूठी सूचना देकर बार-बार पुलिस को परेशान कर रहा है या पुलिसकर्मियों के साथ अभद्र व्यवहार कर रहा है तो उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई कराएं। उन्होंने कहा कि यूपी-112 सेवा एक आपातकालीन सेवा है। इसका उद्देश्य अधिक से अधिक पीड़ितों तथा शिकायतकर्ताओं का सहयोग करना है मगर इस पर बार-बार अनावश्यक कॉल और गम्भीर प्रकृति की झूठी एवं फर्जी सूचनाएं आ रही हैं। ऐसे व्यक्तियों के खिलाफ विधिक कार्रवाई करें।

ये भी पढ़े :  डीडीयू गोरखपुर की छात्रा रही नमिता बनीं डीएसपी, 2017 में प्राप्त किया था जिला खाद्य विपणन अधिकारी का पद...

वर्ष 2020 में गोरखपुर से 1852 बार डायल 112 पर झूठी सूचना देकर पुलिस को परेशान किया गया। इन सभी की लिस्ट तैयार कर ली गई है। इनमें से जिन लोगों ने एक से ज्यादा बार झूठी सूचना दी है तो वह निरोधात्मक कार्रवाई के दायरे में आएगा। ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई कराई जाएगी।
वीरसेन सिंह, प्रभारी निरीक्षक, डायल 112

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...

ब्लॉक प्रमुख बड़हलगंज आशीष राय के जीत की गूंज सात समंदर पार भी…

बड़हलगंज से आशीष राय के विजयी घोषित होने पर विदेशों में भी बंटी मिठाइयां गोरखपुर। शनिवार को तीन ब्लॉक...

भाजपा ने ब्लॉक प्रमुख के लिए विधायक विपिन सिंह की पत्नी नीता सिंह,विधायक संत प्रसाद की बहू पर खेला दाँव, देखें गोरखपुर की सूची…

जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव संपन्न होने के उपरांत त्रिस्तरीय पंचायत को और सुदृढ़ बनाने के लिए भारतीय जनता पार्टी के द्वारा...
%d bloggers like this: