Tuesday, August 3, 2021

जूतों में ड्रग्स छिपा संजय दत्त ने फ्लाइट से किया था सफर, मां की आखिरी ख्वाहिश जो कभी पूरी नही सकी….

गोरखपुर के नवोदित कलाकारो से सजी फ़िल्म ‘ऑक्सीजन ‘के अभिनव प्रयास की खूब हो रही चर्चा

नवोदित कलाकारों को लेकर डॉ. सौरभ पाण्डेय की फ़िल्म 'ऑक्सीजन 'के अभिनव प्रयास ने रचा इतिहास

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण।

बड़हलगंज के बाबा जलेश्वरनाथ मंदिर के पोखरे का 98.5 लाख से होगा सुन्दरीकरण। ...

Maharajganj: प्राथमिक विद्यालय हो रहे मरम्मत कार्य में घटिया तरीके का किया जा रहा है प्रयोग

Maharajganj/Dhani: प्राथमिक विद्यालय हो रहें मरम्मत कार्य में अत्यन्त घटिया किस्म के मसाले व देशी बालू का अधिकता और सिमेन्ट नाम मात्र...

Maharajganj: नालियों के टूट जाने और समय से सफाई न होने से लोग हो रहे परेशान, जांच कर सम्बन्धित कर्मचारियों पर होगी कार्रवाई –...

महाराजगंज/धानी: महाराजगंज जनपद के धानी ब्लाक के अधिकारी भूल चूके हैं अपनी जिम्मेदारी। ग्राम सभा पुरंदरपुर के टोला केवटलिया में नाली टूट...

Maharajganj: दबंग पंचायत मित्र द्वारा किया जा रहा है अवैध नाली का निर्माण।

महराजगंज- फरेंदा ब्लॉक के अंतर्गत ग्राम सभा पिपरा तहसीलदार में पंचायत मित्र द्वारा अपने व्यक्तिगत नाली का निर्माण ग्राम सभा के मुख्य...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

अभिनेता संजय दत्त, जिनकी छवि आज सुधर तो गई है लेकिन वो समय कोई नहीं भूला जब उन्हें बिगड़ा शहजादा कहा जाता था। उनकी बुरी आदतें और लापरवाही के चलते उन्होंने वो सब किया जिसके बारे में न तो उनके पिता सुनील दत्त ने कभी सोचा था और न ही नरगिस। संजय दत्त की जिंदगी में माता पिता का रोल इतना महत्वपूर्ण था कि उनकी जिंदगी से प्रेरित फिल्म संजू में भी पिता-बेटे के एंगल को ही राजकुमार हिरानी ने दर्शाना जरूरी समझा।

संजय दत्त की मां नरगिस जब मौत और जिंदगी की लड़ाई से जूझ रही थी, एक्टर उस दौरान ड्रग्स के नशे में डूबा हुआ था। पिता सुनील दत्त जिन्होंने पूरे घर को बांधा हुआ था, वह बेटे और पत्नी दोनों की हालत को नहीं देख पा रहे थे। वह टूट चुके थे। संजय दत्त की जिंदगी पर लिखने किताब लिखने वाले लेखक यासीर उस्मान ने अपनी किताब ‘संजय दत्त: बॉलीवुड का बिगड़ा शहजादा’ में बताया कि कैसे सुनील दत्त ने बीमार पत्नी और बिगड़े बेटे को संभाला।

सुनील दत्त, जिन्होंने खुद ने अभिनेता से राजनेता का सफर तय किया, पत्नी की बिगड़ती हालत को संभाला, दो बेटियां और बेटे का करियर को संवारने के लिए दिन रात एक कर दिया लेकिन साल 1980 का वो समय उनके लिए बहुत ही कठिन बीता। बेटे संजय के नशे की आदत से वह रूबरू हुए और फिर पत्नी नरगिस की तबीयत ज्यादा बिगड़ गई। सुनील दत्त पत्नी को लेकर अमेरिका चले गए। लेकिन उन्होंने बेटे को साफ कहा, वह अपने करियर पर ध्यान दे और अपनी फिल्म रॉकी को पूरा करे।

ये भी पढ़े :  PM मोदी बायोपिक चुनाव के नतीजे आने के बाद 24 मई को होगी रिलीज
दूसरी फिल्म भी हो गई ऑफर

दूसरी फिल्म भी हो गई ऑफर

संजय दत्त को रॉकी के दौरान ही दूसरी फिल्म युद्ध भी मिल गई। नरगिस और सुनील दत्त बेटे के करियर को लेकर खुश थे। लेकिन बेटा के इस महत्वपूर्ण समय के दौरान नरगिस की हालत बहुत खराब हो गई। उनके कई ऑपरेशन हुए और कई महीनों तक उन्हें विदेश में रहना पड़ा। ये वो दौर था जब सुनील दत्त ने एक पल के लिए भी पत्नी का साथ नहीं छोड़ा। उन्होंने दोनों को बेटियों को कभी अमेरिका बुलाया तो कभी दुबारा मुंबई भेज दिया करते…ताकि बच्चियों की पढ़ाई पर फर्क न पड़े।

ये भी पढ़े :  इस साल अपने अभिनय से भोजपुरी सिनेमा में कहर बरपाने को बेकरार हैं नटखट अभिनेत्री "श्रुति राव"....
30 ग्राम ड्रग्स जूते में छिपा कर ले गए अमेरिका

30 ग्राम ड्रग्स जूते में छिपा कर ले गए अमेरिका

नरगिस बीमारी से जूझ रही थीं। पिता ने तीनों बच्चों को अमेरिका आने के लिए कहा। उस दौरान संजय दत्त ड्रग्स और नशे के वश में जकड़ चुके थे। जब पिता ने संजय को अमेरिका मां से मिलने के लिए बुलाया तो वह इस तनाव में थे कि वह अपने साथ ड्रग्स कैसे लेकर जाएं। वह नहीं चाहते थे कि ड्रग्स न मिलने वाली दर्दनाक पीड़ा से उन्हें दो चार होना पड़ा। संजय दत्त ने दोनों बहनों के साथ अमेरिका मां के पास जाने का मन बना लिया। लेकिन उन्होंने वो किया जिसके बारे में उनका परिवार कभी सोच भी नहीं सकता था। संजय दत्त ने अपने जूते में 30 ग्राम हेरोइन छिपाया। लेकिन उस दिन वह सुरक्षा घेरे से बच निकले।

पिता ने जब बेटे को नशे की लत में गिरफ्त पाया

पिता ने जब बेटे को नशे की लत में गिरफ्त पाया

मां का इलाज विदेश में लंबा चला। उस दौरान एक किराए के अपार्टमेंट में संजय दत्त व उनका परिवार ठहरा था और नरगिस का इलाज अस्पताल में जारी था। संजय अपना ड्रग्स गद्दे के नीचे छिपा कर रखते थे। संजय ने जब अपनी मां की हालत देखी, वो अंचभित रह गए। मां का चेहरा काला पड़ने लगा था। एकदम कमजोर और सबकुछ बदला सा दिख रहा था। नरगिस अपने बेटे के सबसे करीब थीं। उस दिन संजय दत्त मां की बिगड़ती हालत देख घबरा गए।

ये भी पढ़े :  'रामायण' में आज 'राम' करेंगे 'रावण' का वध, कल से 'दूरदर्शन' पर होगा 'उत्तर रामायण' का प्रसारण....

उन्होंने इस पीड़ा से बाहर निकलने के लिए ड्रग्स का साहरा लेने का सोचा। संजय अपने कमरे में आए और गद्दे के नीचे देखा तो ड्रग्स वहां नहीं थे। संजय को फिर पता चला कि ड्रग्स पिता के पास हैं। इसके बाद संजय ने साफ पिता से कह डाला, ‘मेरा ड्रग्स मुझे वापस कर दीजिए’। ये सुनकर सुनील दत्त हिल गए। पिता ने बेटे को समझाने और डांटने की तमाम कोशिश की लेकिन संजय दत्त कुछ समझने को तैयार ही नहीं थे।

मां की आखिरी ख्वाहिश

मां की आखिरी ख्वाहिश

कई महीने अमेरिका में इलाज करवाने के बाद नरगिस मुंबई पहुंची। उस दौरान उनके चेहरे पर घर वापस लौटने और बच्चों से मिलने की खुशी साफ झलक रही थी लेकिन वह पहले जैसी बिल्कुल नहीं थीं। सुदंर बाल और उनकी त्वचा बीमारी के चलते एकदम बेजान हो गए थे। नरगिस जब घर लौटीं तो खूब खुशियां मनाई गईं। लेकिन डॉक्टरों की साफ हिदायत थी कि नरगिस की हालत अभी भी नाजुक है और उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता एकदम कम है। इसीलिए उनको संक्रमण का खतरा ज्यादा हो गया था। इसीलिए तमाम सावधानी के साथ उनका ध्यान रखा जाने लगा। नरगिस इसी तरह समय परिवार के साथ रह रही थीं लेकिन उनकी सेहत पहले जैसी नहीं थी। वह बीमार ही रहा करती थीं। एक दिन उन्होंने फिर साफ किया कि वह बेटे की पहली फिल्म रॉकी देखना चाहती हैं।

ये भी पढ़े :  आज शाम 4 बजे गोरखपुर टाइम्स के माध्यम से गोरखपुर के लोगो से रूबरू होंगे सुप्रसिद्ध लोकगायक भरत शर्मा व्यास.....

अधूरी रह गई ख्वाहिश

लेकिन नरगिस की ये ख्वाहिश पूरी नहीं हो सकी। रॉकी की रिलीज डेट 8 मई 1981 तय हुई। नरगिस बेशक बीमार थीं लेकिन वह खुश थीं कि वह बेटे की फिल्म देखने वाली थीं। मगर नरगिस की तबीयत अचानक बहुत बिगड़ गईं। बेटे की रिलीज से महज 5 दिन पहले नरगिस नहीं रहीं।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

परमिशन लेटर फाड़कर फेंका-पंडित को मारा थप्पड़, DM ने यूं रोकी कर्फ्यू में हो रही शादी

अगरतला के एक मैरि‍ज हॉल में शादी की अच्छी-भली पार्टी चल रही थी. इसी बीच सिंघम की तरह पहुंच गए डीएम शैलेश...

अभिनेता अक्षय कुमार हुए कोरोना पॉजिटिव,खुद घर पर हुए क्वरन्टीन….

फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार कोरोना संक्रमित पाए गए।।उन्होंने अपना टेस्ट करवाया जिसमे व्व पॉजिटिव पाए गए।।जिसके बाद उन्होंने खुद को घर मे...

सुपर स्टार रजनीकांत को मिलेगा दादा साहेब फाल्के पुरस्कार….

इस बार फ़िल्म जगत का सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार सुपरस्टार रजनीकांत को दिया जाएगा।।इसकी...
%d bloggers like this: