Thursday, May 6, 2021

साइंस का चमत्कार! बच्ची पैदा हुई तो उम्र थी 27 साल, मां से सिर्फ डेढ़ साल छोटी

गोरखपुर दक्षिणांचल से उठी आवाज हमें भी चाहिए कोविड अस्पताल,मुख्यालय है 60 km दूर

कोरोना जैसी गंभीर बीमारी के दूसरे फेज में जो स्थितियां नजर आ रही हैं वह बेहद खतरनाक हैं पूर्वांचल की हृदय स्थली...

कोरोना महामारी से मुक्ति हेतु RSS कार्यकर्ताओ ने किया हवन-पूजन,जगत कल्याण के लिए की प्रार्थना…

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सेवा विभाग सेवा भारती गोरक्ष प्रान्त के आह्वान पर कल शीलताष्टमी के अवसर पर स्वयंसेवको ने...

कौड़ीराम के बासूडिहा में उठी कोविड आइसोलेशन केंद्र बनाने की माँग..

कोविड महामारी को देखते हुए बासुडीहा में आइसोलेशन केंद्र बनाने की माँग उठी है ।गोरखपुर टाइम्स के सत्य चरण लक्क़ी से बात...

UP weekend lockdown: यूपी में अब मंगलवार सुबह तक लगेगा वीकेंड लॉकडाउन

उत्तर प्रदेश में कोरोना पैर पसारता जा रहा है। कोरोना के मामलों में बीते तीन दिनों में कुछ कमी आई है, लेकिन...

अब दिल्ली में LG होंगे ‘सरकार’ केंद्र सरकार ने जारी की अधिसूचना, हो सकता है बवाल

दिल्ली में राष्ट्रीय राजधानी राज्यक्षेत्र शासन अधिनियम (NCT) 2021 को लागू कर दिया गया है. इस अधिनियम में शहर की चुनी हुई...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

साइंस किस स्तर पर तरक्की कर चुका है इसकी बानगी इसी बात से लगाई जा सकती है कि अमेरिका में एक बच्ची जब पैदा हुई तो तकनीकी तौर पर वो 27 साल की थी और वो अपनी मां से सिर्फ डेढ़ साल छोटी थी.

साइंस किस स्तर पर तरक्की कर चुका है इसकी बानगी इसी बात से लगाई जा सकती है कि अमेरिका में एक बच्ची जब पैदा हुई तो तकनीकी तौर पर वो 27 साल की थी और वो अपनी मां से सिर्फ डेढ़ साल छोटी थी. दरअसल मॉली का भ्रूण अक्तूबर 1992 में फ्रीज किया गया था और फरवरी 2020 में गिब्सन परिवार ने इस भ्रूण का ट्रांसप्लांट टीना गिब्सन नाम की महिला में किया गया था जिसके बाद इस साल अक्तूबर में मॉली का जन्म हुआ. (फोटो साभार- बेंजामिन गिब्सन)

ये भी पढ़े :  किसान पिता दिल्ली की सीमा पर कर रहा था प्रदर्शन, 22 वर्षीय बेटा कश्मीर में हुआ शहीद।

टीना गिब्सन का जन्म साल 1991 में हुआ था और उनकी और बेंजामिन की शादी को 10 साल हो चुके हैं. टीना के पति सिस्टिक फायब्रोसिस के मरीज हैं. यह बीमारी बच्चा पैदा करने में बाधा डालती है. साल 2017 में टीना के पेरेंट्स ने एक लोकल न्यूज स्टेशन में नेशनल एंब्रायो डोनेशन सेंटर नाम के संस्था के बारे में पढ़ा था जो महिलाओं को भ्रूण गोद लेने में मदद करता था. पहले तो टीना ने इस आइडिए पर खास विचार नहीं किया लेकिन इसके बाद उन्होंने अपने पति के साथ इस संस्था में जाने का फैसला किया. (फोटो साभार- बेंजामिन गिब्सन)

ये भी पढ़े :  किसान पिता दिल्ली की सीमा पर कर रहा था प्रदर्शन, 22 वर्षीय बेटा कश्मीर में हुआ शहीद।

पेशे से टीचर टीना ने साल 2017 में अपनी पहली बेटी के भ्रूण को गोद लिया और नवंबर 2017 में वो पैदा हुई जिसका नाम एम्मा रखा गया. एम्मा का भ्रूण पिछले 24 सालों से फ्रीज कर रखा गया था. हालांकि साल 2020 में मॉली ने एम्मा के इस रिकॉर्ड को तोड़ दिया क्योंकि उनका भ्रूण पिछले 27 सालों से फ्रीज कर रखा हुआ था. यूनिवर्सिटी ऑफ प्रेस्टन मेडिकल लाइब्रेरी के रिसर्चर्स के मुताबिक, ये अपने आप में एक रिकॉर्ड है.  

इस संस्था में आईवीएफ ट्रीटमेंट कराने वाले लोग अपने भ्रूण डोनेट कर सकते हैं और फिर उन्हें लंबे समय तक फ्रीज रखा जाता है. इसके बाद जो कपल बांझपन की समस्या से गुजर रहे हैं वे इन्हें गोद ले सकते हैं. टीना और बेंजामिन के दोनों बच्चे इसी प्रक्रिया से पैदा हुए हैं.  एनईडीसी के आंकड़ों के मुताबिक, सिर्फ अमेरिका में ही इस वक्त 10 लाख से अधिक भ्रूण फ्रीज कर रखे हुए हैं.

ये भी पढ़े :  "प्याज और चावल, खेतों में बची फसल खाने को मजबूर हैं" मध्य प्रदेश में फंसे मजदूर, CM योगी से लगाई घर पहुंचाने की गुहार

नेशनल एंब्रायो डोनेशन सेंटर के लैब डायरेक्टर कैरोल सॉमरफेल्ट ने भ्रूण को गलाने की संवेदनशील प्रक्रिया के बारे में न्यूयॉर्क पोस्ट के साथ बात करते हुए कहा कि जब तक भ्रूण लिक्विड नाइट्रोजन स्टोरेज टैंक में -396 डिग्री तक ठीक ढंग से मेंटेन किए जाते हैं, तब तक वे कितने भी लंबे समय के लिए सुरक्षित रहते हैं. उन्होंने आगे कहा कि ये देखना बेहद शानदार था कि एक भ्रूण जो कई सालों पहले फ्रीज किया गया था उसे एक बेहद प्यारे बच्चे के रूप में अपनाया गया है. 

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

Maharajganj: संदिग्ध परिस्थितियों में महिला का गहरे कुएं में मिला शव, जांच में जुटी पुलिस।

Maharajganj: महाराजगंज जनपद के थाना क्षेत्र बृजमनगंज अंतर्गत ग्रामसभा मिश्रौलिया के खास टोले पर एक कुएं में एक महिला का शव मिलने...

कोरोना मरीज को नहीं लौटाएगा कोई अस्पताल, सरकार उठाएगी पूरा खर्चा: सीएम योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को कोरोना संक्रमितों की मदद के लिए अहम आदेश दिया. उन्होंने सख्त हिदायत देते...

Maharajganj: अवैध रूप से चल रहे हॉस्पिटलो पर हुआ छापामारी, माडर्न अपोलो हॉस्पिटल हुआ सील।

महाराजगंज जिले की फरेंदा कस्बे में अवैध रूप से चल रहे हॉस्पिटलो पर हुआ छापामारी माडर्न अपोलो हॉस्पिटल हुआ सील
%d bloggers like this: