Thursday, June 17, 2021

सर्दी से बचने को कमरे में जलाई थी अंगीठी, मौत की नींद सोया पूरा परिवार

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडी

गोररखपुर :फर्जी अस्पताल में कम्पाउंडर चला रहा ओपीडीकोरोना काल मे फर्जी अस्पतालों की आई बाढ़ (((अंगद राय की कलम से)))

महराजगंज के नगर पंचायत आनंद नगर में गैस सिलेंडर फटा, छः लोग जख्मी

Maharajganj: महाराजगंज जिले की नगर पंचायत आनंद नगर के धानी ढाला पर जमीर अहमद के मकान में सुबह 6:30 बजे खाना...

69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण के नियमों का बड़े पैमाने पर अव्हेलना को लेकर आज़ाद समाज पार्टी के जिलाध्यक्ष ने एसडीएम को सौंपा...

Maharajganj: 69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण के नियमों की बड़े पैमाने पर अवहेलना की गयी है जिसमें OBC वर्ग...

तेज रफ्तार कार से ऑटो की भिड़ंत, घायलों को पहुंचाया गया अस्पताल।

फरेंदा (महराजगंज): जनपद में हर रोज हो रहे सड़क हादसे चिंता का बड़ा सबब बनते जा रहे हैं। फरेंदा कस्बे के उत्तरी...

दूसरों की मदद करने से जो खुशी मिलती है वही असली आनंद :- पवन सिंह

कुछ करने से अगर खुशी की अनुभूति होती है तो उससे बढ़कर आनंद किसी में नहीं है। आनंद को शब्दों में व्यक्त...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

बंद कमरे में अंगीठी जलाकर सोना एक परिवार के लिए जानलेवा साबित हुआ है। दिल्ली से सटे फरीदाबाद में सर्दी से बचने के लिए कमरे में अंगीठी जलाकर सो रहे एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई। मौत का कारण दम घुटना बताया जा रहा है। पुलिस ने तीनों शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजकर मामले की जांच शुरू कर दिया है।

जानकारी के अनुसार, फरीदाबाद के थाना सेक्टर-58 क्षेत्र के ओम एंक्लेव की राजीव कॉलोनी में मंगलवार रात सर्दी से बचने के लिए कमरे में अंगीठी जलाकर सो रहे एक ही परिवार के तीन लोगों की दम घुटने से मौत हो गई। मृतकों में पति-पत्नी और 2 साल का मासूम बच्चा शामिल हैं। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची सेक्टर-58 थाना पुलिस ने तीनों शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए बीके अस्पताल भेज दिया है।

घटना और मृतकों के बारे में अभी ज्यादा जानकारी नहीं मिल सकी है। पुलिस घटनास्थल की गहनता से जांच कर रही है। पुलिस का कहना है कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही स्थिति साफ हो सकेगी

ये भी पढ़े :  मोबाइल कॉलर ट्यून पर रोक की याचिका

बंद करने में अंगीठी जलाकर कभी न सोएं
कड़ाके की सर्दियां शुरू हो चुकी हैं। ऐसे में लोग ठंड से बचने के लिए तरह-तरह के उपाय करेंगे। कमरों को गर्म रखने के लिए, अलाव, अंगीठी और हीटर जैसे उपकरण जलाए जाएंगे, लेकिन कमरों को गर्म रखने के लिए ये उपाय आपके लिए जानलेवा भी हो सकते हैं। अगर आप भी ऐसा करते हैं तो सावधान रहें। अंगीठी में इस्तेमाल होने वाले कोयले या लकड़ी के जलने से कॉर्बन मोनोऑक्साइड के अलावा कई जहरीली गैसें निकलती हैं, जो जानलेवा साबित हो सकती हैं। अंगीठी ही नहीं, इस तरह का खतरा रूम हीटर से भी हो सकता है।

ये भी पढ़े :  मुजफ्फरपुर: यहां एंबुलेंस में मरीज को स्लाइन की जगह चढ़ाई जा रही शराब!

हीटर या अंगीठी से कम हो जाता है कमरे में ऑक्‍सीजन लेवल
कोयला या अलाव जलाने से कार्बन मोनोऑक्साइड के अलावा कई प्रकार की जहरीली गैसें निकलती हैं। कोयला बंद कमरे में जल रहा हो, तो इससे पर्यावरण में कार्बन मोनोऑक्साइड की मात्रा बढ़ जाती है और ऑक्सीजन का लेवल घट जाता है। यह कार्बन, दिमाग पर सीधे असर डालता है और सांसों के जरिये शरीर के अंदर भी पहुंचता है। दिमाग पर असर होने से कमरे में सोया कोई भी इंसान बेहोश हो सकता है। ब्लड में यह कार्बन घुलकर धीरे-धीरे ऑक्सीजन को कम कर देता है। बंद कमरे में लंबे समय तक ब्लोअर या हीटर जलाने से कमरे का तापमान बढ़ जाता है और नमी का लेवल कम हो जाता है। इस वजह से नॉर्मल लोगों को भी सांस संबंधी समस्या हो सकती है। अगर आप हीटर का प्रयोग करते हैं, तो कमरे में एक बाल्टी पानी रखें, जिससे कुछ हद तक नमी बनी रहे।

ये भी पढ़े :  क्या फ़िज़िकल रिलेशन से फैल सकता है कोरोना वायरस? डॉक्टर्स की राय

इन बातों का रखें खास ध्यान
घर में वेंटिलेशन हो तभी अलाव, हीटर या ब्लोअर चलाएं।
अलाव जलाकर उसके पास न सोएं, साथ में पानी से भरी बाल्टी जरूर रखें, आग जलाएं तो जमीन पर सोने से बचें। घर में अगर कोई बच्चा हो, तो आग न जलाएं तो ज्यादा बेहतर है।

यदि रात में हीटर, ब्लोअर या अंगीठी का इस्तेमाल करते हैं, तो इनके करीब प्लास्टिक, कपड़े, केमिकल्स न रखें, ढीले प्लग, कटे तार से भी हादसा हो सकता है।

ये सावधानियां बरतें
हीटर, ब्लोअर या अंगीठी जलाते समय कमरे को पूरी तरह से बंद नहीं करना चाहिए। गर्मी से धीरे-धीरे कमरे का ऑक्सीजन खत्म हो जाता है और कार्बन मोनोऑक्साइड ज्यादा होने लगता है। यह जहरीली गैस सांस के जरिए फेफड़ों तक पहुंच कर खून में मिल जाती है। इस वजह से खून में हीमोग्लोबिन का लेवल घट जाता है और बेहोशी छाने लगती है और इंसान की मौत हो जाती है। अगर कमरे में एक से ज्यादा व्यक्ति सो रहे हैं तो ज्यादा देर तक आग न जलाएं, क्योंकि ज्यादा लोग होने से कमरे में ऑक्सीजन की और कमी हो जाती है।

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

Maharajganj: संदिग्ध परिस्थितियों में महिला का गहरे कुएं में मिला शव, जांच में जुटी पुलिस।

Maharajganj: महाराजगंज जनपद के थाना क्षेत्र बृजमनगंज अंतर्गत ग्रामसभा मिश्रौलिया के खास टोले पर एक कुएं में एक महिला का शव मिलने...

कोरोना मरीज को नहीं लौटाएगा कोई अस्पताल, सरकार उठाएगी पूरा खर्चा: सीएम योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को कोरोना संक्रमितों की मदद के लिए अहम आदेश दिया. उन्होंने सख्त हिदायत देते...

Maharajganj: अवैध रूप से चल रहे हॉस्पिटलो पर हुआ छापामारी, माडर्न अपोलो हॉस्पिटल हुआ सील।

महाराजगंज जिले की फरेंदा कस्बे में अवैध रूप से चल रहे हॉस्पिटलो पर हुआ छापामारी माडर्न अपोलो हॉस्पिटल हुआ सील
%d bloggers like this: