Sunday, April 18, 2021

सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील जफरयाब जिलानी ने कहा- गलत तथ्‍य पेश किए गए हैं, पुनर्विचार याचिका दायर करने पर करेंगे विचार

UP: पंचायत चुनाव में पैसा बांट रहे थे BJP के पूर्व MLA के भाई, रंगे हाथ पकड़े गए

पूर्व भाजपा विधायक अवनीन्द्र नाथ द्विवेदी उर्फ महंत दूबे के छोटे भाई व पूर्व प्रधान सत्येन्द्र नाथ द्विवेदी उर्फ राजू द्विवेदी को...

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हुए कोरोना पॉजिटिव

लखनऊ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हुए कोरोना पॉजिटिव योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर दी...

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव कोरोना पॉजिटिव          

गोरखपुर टाइम्स ब्रेकिंग :-    अखिलेश यादव कोरोना पॉजिटिव               अभी-अभी मेरी कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट पॉज़िटिव आई है। मैंने...

महापौर हुये कोरोना पॉजिटिव,घर मे हुए आइसोलेट

महापौर हुये कोरोना पॉजिटिव,घर मे हुए आइसोलेट          गोरखपुर : महापौर सीताराम जायसवाल ने...

गोरखपुर :- आरपीएम के छात्र प्रवीण ने बढ़ाया ज़िले का मान,SDM बनकर करेंगें प्रदेश की सेवा

प्रदेश की सर्वश्रेष्ठ परीक्षाओं में से एक उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग 2020 की परीक्षा का परिणाम लोक सेवा आयोग के द्वारा...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

अयोध्या पर आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील जफरयाब जिलानी ने कहा है कि वह फैसले से संतुष्‍ट नहीं हैं. बोर्ड के वकील जफरयाब जिलानी ने कहा, ‘कुछ गलत तथ्‍य पेश किए गए हैं हम उनकी जांच करेंगे. सुप्रीम कोर्ट का फैसला है हम उसका सम्‍मान करते हैं. पूरे देश को शांति बनाए रखनी चाहिए. जिलाने कहा कहा, ‘फैसला हमें बाबरी मस्जिद नहीं देता, जो हमारे हिसाब से गलत है. हमारे लिए पांच एकड़ जमीन के कोई मायने नहीं हैं. हम फैसले से जरा भी संतुष्‍ट नहीं हैं. हम नागरिकों से शांति बनाए रखने की अपील करते हैं’. इस मामले में पुनर्विचार याचिका दायर करने पर विचार किया जाएगा. अयोध्या भूमि विवाद को लेकर पांच जजों की पीठ ने शनिवार को ऐतिहासिक फैसला सुनाया. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सुन्नी वक्फ बोर्ड विवादित ढांचे पर अपना एक्सक्लूसिव राइट साबित नहीं कर पाया. कोर्ट ने विवादित ढांचे की जमीन हिंदुओं को देने का फैसला सुनाया, तो मुसलमानों को दूसरी जगह जमीन देने के लिए कहा है. कोर्ट ने साथ ही कहा कि इसके लिए केंद्र सरकार तीन महीने में योजना बनाए. कोर्ट ने कहा कि सुन्नी वक्फ बोर्ड को पांच एकड़ जमीन मिलेगी. फिलहाल अधिकृत जगह का कब्जा रिसीवर के पास रहेगा. पांचों जजों की सहमति से फैसला सुनाया गया है.

ये भी पढ़े :  शिलान्यास समारोह से पहले दीपों से जगमगाई अयोध्या… कुछ ऐसा दिखा नजारा
ये भी पढ़े :  आज का पंचांग 19/01/2020 रविवार

फैसला पढ़ने के दौरान पीठ ने कहा कि ASI रिपोर्ट के मुताबिक नीचे मंदिर था. CJI ने कहा कि ASI ने भी पीठ के सामने विवादित जमीन पर पहले मंदिर होने के सबूत पेश किए हैं. CJI ने कहा कि हिंदू अयोध्या को राम जन्म स्थल मानते हैं. हालांकि, ASI यह नहीं बता पाया कि मंदिर गिराकर मस्जिद बनाई गई थी. मुस्लिम गवाहों ने भी माना कि वहां दोनों ही पक्ष पूजा करते थे. रंजन गोगोई ने कहा कि ASI की रिपोर्ट के मुताबिक खाली जमीन पर मस्जिद नहीं बनी थी. साथ ही सबूत पेश किए हैं कि हिंदू बाहरी आहते में पूजा करते थे.

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

83 साल के संत ने राम मंदिर के लिए दिए 1 करोड़, 60 साल से रह रहे गुफा में

अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण (Ram Temple Ayodhya) के लिए लोगों की आस्था इस कदर जुड़ी...

अयोध्या में मस्जिद का खूबसूरत डिजाइन हुआ जारी, देखें और जानें क्या है खास।।

अयोध्या. राम मंदिर के डिजाइन के बाद अब अयोध्या में बनने वाली मस्जिद (Masjid) का भी खूबसूरत डिजाइन आज जारी हो गया।...

अयोध्या में 6 लाख दीये जलाकर बनाया विश्व रिकार्ड, CM बोले-अगले साल बनेगा नया कीर्तिमान

अयोध्या/लखनऊ। राम नगरी में सरयू नदी के तट पर शुक्रवार को त्रेता युग जीवंत हो उठा। इस...
%d bloggers like this: