Saturday, July 24, 2021

BREAKING: BJP सरकारों में फ्री है यात्रा तो गुजरात से गोरखपुर आए मजदूरों से किसने लिया पैसा?

पुलिस अधीक्षक द्वारा की गयी मासिक अपराध गोष्ठी में अपराधों की समीक्षा व रोकथाम हेतु दिये गये आवश्यक दिशा-निर्देश

Maharajganj: पुलिस अधीक्षक महराजगंज प्रदीप गुप्ता द्वारा आज दिनांक 17.07.2021 को पुलिस लाइन्स स्थित सभागार में मासिक अपराध गोष्ठी में कानून-व्यवस्था की...

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...

Maharajganj: CO सुनील दत्त दूबे द्वारा कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस महानिदेशक जोन गोरखपुर ने प्रशस्ति पत्र से नवाजा।

Maharajganj/Farenda: सीओ फरेन्दा सुनील दत्त दूबे को थाना पुरन्दरपुर में नवीन बीट प्रणाली के क्रियान्वयन में कुशल पर्यवेक्षण करने पर अपर पुलिस...

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...

महराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतर्गत SBI कृषि विकास शाखा के सामने से मोटरसाइकिल चोरी

Maharajganj: महाराजगंज जिले के फरेंदा थाने के अंतगर्त मंगलवार को बृजमनगंज रोड पर भारतीय स्टेट बैंक कृषि विकास शाखा के ठीक...

Download GT App from
Google Play

विज्ञापन के लिए संपर्क करें +91 7843810623 (WhatsApp)

महाराष्ट्र और गुजरात से उत्तर प्रदेश और बिहार के प्रवासी मजदूरों के आने का सिलसिला शुरू हो गई है, लेकिन बवाल रेल टिकट पर मचा है. केंद्र सरकार ने दावा किया है कि मजदूरों से पैसा नहीं लिया जा रहा है. 85 फीसदी खर्च केंद्र वहन कर रही है तो 15 फीसदी राज्यों के जिम्मे है. गुजरात और यूपी में बीजेपी सरकारें हैं, बावजूद इसके मजदूरों से पैसा लिया गया. ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर मजदूरों से पैसा किसने लिया?

दरअसल, गुजरात के नादियाड से उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में मजदूरों का एक जत्था आया. खेड़ा जिले के सात तहसीलों में फंसे 1134 मजदूरों को साबरमती गोरखपुर विशेष ट्रेन से रवाना किया गया. आरोप है कि मजदूरों से रेल टिकट के नाम पर 600-700 वसूले गए. किराया वसूली किए जाने से मजदूर नाराज हैं. इनका कहना है कि पिछले 40 दिनों से फैक्ट्री मालिकों की ओर से खाने-पीने का कोई इंतजाम नहीं किया गया था.

ये भी पढ़े :  इटावा सफारी का नाम बदलकर रखा जाए अटल सफारी.....

गुजरात से लखनऊ पहुंचे प्रवासी ओम प्रकाश का कहना है कि मैं वडोदरा से आ रहा हूं. मैं दिसंबर में गया था, जब लॉक डाउन की घोषणा हुई तो उसके दो-तीन दिन बाद जब सब लोग आने लगे तो हम लोग भी चल दिए थे, क्योंकि वहां खाने-पीने की दिक्कत थी. पुलिस वालों ने पकड़ लिया और क्वारनटीन के लिए भेज दिया. वहां पर हम लोगों की जांच वगैरह भी हुई, हम लोगों को 35 दिन रखा गया था. अब हम लोगों से 555 रुपए का रेल टिकट लिया गया और लखनऊ पहुंचाया गया.

ये भी पढ़े :  गोरखपुर: बेहशी बनते लोग गर्भवती को ट्रेन की बोगी से बाहर धकेला, ट्रैक पर जन्मा बच्चा।

ओम प्रकाश की ही तरह वडोदरा से आए तिलकधारी ने कहा कि मैं वडोदरा में फेब्रिकेशन का काम करता था. जब लॉक डाउन हुआ तो मैं वहां से निकल पड़ा, लेकिन पुलिस वालों ने पकड़ लिया और क्वारनटीन में रख दिया. ट्रेन में एक बार खाने-पीने को मिला था. मैंने 500 रुपये का टिकट लिया था. मैं जौनपुर जा रहा हूं. तिलकधारी की ही तरह अजय का भी कहना है कि मैंने 555 रुपये का टिकट लिया और कानपुर जा रहा हूं.

अब ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर मजदूरों से पैसा किसने लिया? लखनऊ में प्रवासी मजदूर के नोडल अधिकारी सुशील प्रताप सिंह का कहना है कि गुजरात से आए मजदूरों को नगर निगम की तरफ से खाना दिया गया. सभी लोगों के लिए बस सेवा निशुल्क है. जितने भी यात्री हैं उन सभी को उनके गंतव्य तक निशुल्क पहुंचाया जाएगा. हालांकि, वह इस सवाल का जवाब नहीं दे पाएं कि टिकट का पैसा किसने लिया.

ये भी पढ़े :  ब्रेकिंग:21 मार्च से 31मार्च तक श्रद्धालुओ के लिए बन्द रहेगा गोरखनाथ मंदिर...

क्या है सरकार का दावा

केंद्र सरकार ने कहा था कि मजदूरों के रेल किराए का 85 फीसदी भार खुद रेल मंत्रालय वहन कर रहा है, जबकि 15 फीसदी हिस्सा राज्य सरकारों को देना है. रेल मंत्रालय की ओर से राज्य सरकारों को टिकट जारी किया जाता है और फिर उनसे पैसा लिया जाता है. वहीं, बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा था कि बीजेपी राज्य सरकारें (एमपी जैसे) मजदूरों का किराया वहन कर रही हैं. ऐसे में अगर सफर फ्री है तो मजदूरों से पैसा किसने लिया?

ये भी पढ़े :  लखनऊ अस्पताल में भर्ती जमातियों का उपद्रव, स्टाफ वार्ड छोड़कर कर बाहर निकले। थूकना और ...

Hot Topics

गोरखपुर : सगी बहन से शादी करने की जिद पर अड़ा भाई; यहां जाने क्या है माजरा !

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिलुआताल में...

गोरखपुर:चिता पर रखे शव के जीवित होने पर मचा हड़कंप, रोकना पड़ा दाह संस्कार,

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां...

देवरिया:- थाने में ही महिला फरियादी के सामने हस्तमैथून करने वाला थानेदार फ़रार,25 हज़ार के इनाम की घोषणा

देवरिया के अंतर्गत आने वाले थाने भटनी में महिला फरियादी के सामने हस्तमैथुन करने वाली थानेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज...

Related Articles

शायर मुनव्वर राना के बोल, ‘दोबारा सीएम बने योगी तो यूपी छोड़ दूंगा’

लखनऊ: मशहूर शायर मुनव्वर राना एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं।उन्होंने कहा कि अगर योगी आदित्यनाथ दोबारा...

विधायक विनय शंकर तिवारी किडनी की बीमारी से पीड़ित ग़रीब युवा के लिए बने मसीहा…

हाल ही में सोशल मीडिया के माध्यम से किडनी की बीमारी से पीड़ित व्यक्ति की मदद हेतु युवाओं के द्वारा अपील की...

ब्लॉक प्रमुख बड़हलगंज आशीष राय के जीत की गूंज सात समंदर पार भी…

बड़हलगंज से आशीष राय के विजयी घोषित होने पर विदेशों में भी बंटी मिठाइयां गोरखपुर। शनिवार को तीन ब्लॉक...
%d bloggers like this: