- Advertisement -
n
n
Tuesday, July 7, 2020

Politics

पुराने ट्वीट को लेकर शशि थरुर ने अनुपम खेर को किया ट्रोल, मिला करारा जवाब

जिस समय अनुपम खेर ने ये ट्वीट किया था, तब केन्द्र में यूपीए-2 की सरकार थी, माना जाता है कि बॉलीवुड एक्टर ने इनडायरेक्टली तत्कालीन सरकार को टारगेट कर अपनी बात कही थी। New Delhi, Jun 29 : बॉलीवुड एक्टर अनुपम खेर इन दिनों अपनी फिल्मों से ज्यादा सोशल मीडिया पर अपनी सक्रियता की वजह से सुर्खियों में रहते हैं, सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने वाले कलाकारों में उनकी गिनती पहले कतार में होती है, इतना ही नहीं वो राजनीतिक और सामाजिक मुद्दों पर भी खुलकर बोलते हैं, उन्होने पीएम मोदी और बीजेपी का समर्थक कहा जाता है। पुराना ट्वीट इस बार अनुपम खेर अपने पुराने एक ट्वीट की वजह से सुर्खियों में हैं, दरअसल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री शशि थरुर ने अनुपम खेर का एक पुराना ट्वीट शेयर कर लिखा है, मैं यहां आपकी बातों से पूरी तरह से सहमत हू, दरअसल बॉलीवुड एक्टर ने 9 अक्टूबर 2012 को एडवर्ड एबे का एक कोट ट्वीट किया था, जिसमें उन्होने लिखा था एक देशभक्त को हमेशा अपनी सरकार के खिलाफ आवाज उठाने के लिये तैयार रहना चाहिये। यूपीए सरकार के समय ट्वीट आपको बता दें कि जिस समय अनुपम खेर ने ये ट्वीट किया था, ..

read more

गलवान हिंसक झड़प को लेकर पूर्व आर्मी चीफ वीके सिंह का दावा, लड़ाई का ‘रहस्‍यमयी कारण’ बताया

गलवान घाटी में हुई भारतीय और चीनी सैनिकों की झड़प के कारण का पूर्व आर्मी चीफ वीके सिंह ने खुलासा किया है । आपको बता दें इस झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे । New Delhi, Jun 29: गलवान घाटी में 15 जून की रात को क्‍या हुआ ? क्‍यों भारतीय और चीनी सैनिक आपस में लड़ पड़े ? जो पिछले कई सालों में नहीं हुआ, ऐसी घटना क्‍यों हो गई ? भारत और चीन के बीच हिंसक झड़प की वजह क्‍या थी ? मामले में अब केंद्रीय मंत्री और पूर्व आर्मी चीफ वी के सिंह ने ऐसा दावा किया है कि उसे सुनकर आप हैरान रह जाएंगे । वीके सिंह के मुताबिक चीनी तंबुओं में लगी रहस्‍यमयी आग के कारण भारतीय सैनिक भड़क उठे थे। तंबू में क्‍या रखा था, जिसमें आग लगी … पूर्व आर्मी चीफ वीके सिंह ने कहा कि 15 जून की रात को जब कमांडिंग ऑफिसर संतोष बाबू पेट्रोल पॉइंट 14 पर पहुंचे तो पाया कि चीन ने वहां से अपने टेंट को नहीं हटाया था । बताया जा रहा है कि चीन ने वो तंबू इसलिए लगाया था जिससे पता चल सके कि भारतीय सेना पीछे गई या नहीं । जब बातचीत के बाद दोनों के पीछे जाने की बात हुई तो संतोष बाबू ने चीनी सैनिकों से उसे हटाने को कहा । वीके सिंह ने बताया..

read more

राहुल गाँधी ने नरेंद्र मोदी पर अपने ट्वीट में तंज कसा, सरेंडर की जगह ‘सुरेन्दर’ लिख दिया

झेलम की मिटटी से बने मनमोहन सिंह मन मसोसकर रह गए थे |नरेंद्र मोदी साबरमती की रेत से उपजे हैं| प्रतिक्रिया भिन्न होगी ही| इसका नतीजा अमेठी में देखा जा चूका है| New Delhi, Jun 23 : आखिर राहुल गाँधी ने नरेंद्र मोदी पर अपने ट्वीट में क्या तंज कसा? मूलतः उन्होंने व्यक्तिवाचक संज्ञा “सरेन्डर” उच्चारित करना चाहा था| वह विकृत होकर अपभ्रंश “सुरेन्दर” उच्चरित हो गया| इसके मायने हैं ध्वन्यात्मक (कंठ और तालु से उपजा) अव्यक्त (अनुच्चरित, अस्पष्ट) शब्द| (काशी नागरी प्रचारिणी सभा द्वारा प्रकाशित “हिंदी शब्द सागर”, भाग नौ, पृष्ठ 4690)| यह तात्पर्य सर्वथा प्रामाणिक है क्योंकि कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष रहे पण्डित कमलापति त्रिपाठी इस शब्कोश के संपादक थे| यदि आंग्ल भाषा में प्रयुक्त राहुल का ट्वीट मान भी लें तो उसके प्रकरणार्थ होंगे “सरेन्डर” (आत्म समर्पण : चीन के समक्ष)| शायद एक हर्फ़ “R” छूट गया हो| अतः वह “Surender” बन गया! इस अति सूक्ष्म वर्ण विन्यास में हिज्जे उलट-पलट गए| नतीजन वर्तनी ने अनर्थ कर दिया हो| नरेंद्र (मोदी) अर्थात (इंसानों का पालक) और “सुरेन्द्र” मायने “देवताओं का राजा|” इस कारण समूच..

read more

गलवान पर मोदी दुविधा खत्म करें

चीनियों को भी समझ में आ गया होगा कि अब वे 15 जून की रात दुबारा दोहरा नहीं पाएंगे लेकिन मोदीजी का क्या होगा ? वे तो नेहरुजी से भी ज्यादा फंस गए। New Delhi, Jun 23 : गलवान घाटी में हुए हत्याकांड पर विरोधी नेता हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखे आरोप लगा रहे हैं तो चीनी अखबार उनके संयम की तारीफें पेल रहे हैं। कांग्रेसी युवराज राहुल गांधी ने कहा है कि यह ‘नरेन्दर’ मोदी नहीं, ‘सरेन्डर’ मोदी है याने मोदी ने चीनियों के आगे आत्म-समर्पण कर दिया है। मोदी ने जान-बूझकर भारतीय जमीन चीन को सौंप दी है। राहुल की इस जुमलेबाजी पर मुझे खास आश्चर्य नहीं हुआ, क्योंकि आस-पास बैठे किसी आदमी ने जैसी चाबी भरी, गुड्डे ने वैसा नाच दिखा दिया। हां, यह तो मानना पड़ेगा कि ‘नरेन्दर’ को ‘सरेन्डर’ कहकर तुकबंदी में राहुल ने मोदी को मात कर दिया है। बेहतर होता कि हमारे नेता सार्वजनिक रुप से इस तरह के बयान देने की बजाय इस राष्ट्रीय दुख और अपमान की घड़ी में घर में बैठकर समयानुकूल सलाह-मश्विरा करते और आगे की रणनीति बनाते। यदि मोदी भी चाहते तो जवाहरलाल नेहरु की तरह अकड़ दिखा सकते थे। जैसे नेहरु ने 1962 में श्रीलंका-यात्रा ..

read more

Plurals के जनरल सेक्रेटरी की कम्पनी ने बिना नोटिस दिए कर्मचारियों को निकाला, पुष्पम करती हैं लाखों जॉब्स देने के दावे

--- Plurals के जनरल सेक्रेटरी की कम्पनी ने बिना नोटिस दिए कर्मचारियों को निकाला, पुष्पम करती हैं लाखों जॉब्स देने के दावे लेख आप ऑपइंडिया वेबसाइट पे पढ़ सकते हैं --- बिहार की राजनीति में एक पार्टी एक नई धुरी बन कर भरने की कोशिश में है और उसका नाम है Plurals, जिसकी संस्थापक पुष्पम प्रिया चौधरी हैं। वो जदयू के विधान पार्षद रहे विनोद चौधरी की बेटी हैं। उनके दादा उमाशंकर चौधरी समता पार्टी के दिनों में नीतीश ने क़रीबी रहे हैं। बिहार में उनके प्रचार अभियान के बाद उनका नाम नया नहीं है, ख़ासकर युवाओं को उनके बारे में सब कुछ पता है। Plurals ने लाखों जॉब्स क्रिएट करने का वादा किया है। Plurals के ही एक नेता हैं अनुपम सुमन। लेकिन, अब पार्टी के बारे में कुछ ऐसा सामने आया है जो इसके द्वारा प्रचारित की जा रही नीतियों और सिद्धांतों के एकदम विपरीत है। ये इस पार्टी के दोहरे रवैये की ओर इशारा करता है। Plurals से सम्बद्ध ‘Young Bihar Movement’ (YBM) ने कई लोगों को नौकरी पर हायर किया और बाद में अचानक से निकाल दिया। यहाँ तक कि उन्होंने नोटिस तक नहीं दिया और सैलरी भी लगभग एक महीने की देरी से दी, वो भी बार-ब..

read more

बिहार: 5 विधान पार्षदों ने RJD छोड़ थामा जदयू का हाथ, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने भी पद से दिया इस्तीफा

--- बिहार: 5 विधान पार्षदों ने RJD छोड़ थामा जदयू का हाथ, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने भी पद से दिया इस्तीफा लेख आप ऑपइंडिया वेबसाइट पे पढ़ सकते हैं --- बिहार में विधानसभा चुनाव से पहले राज्य में सियासी हलचल शुरू हो गई है। आज इसी क्रम में लालू प्रसाद की राजद को बड़ा झटका लगा है। दरअसल, राजद के पाँच विधान पार्षदों ने पार्टी का हाथ छोड़कर सत्ताधारी पार्टी जदयू का दामन थाम लिया है। इसके अलावा पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्हें लेकर कहा जा रहा है कि वह रामा सिंह के पार्टी में शामिल होने की खबरों से नाराज थे। इसलिए उन्होंने ये फैसला किया। जबकि 5 विधान पार्षदों को लेकर खबर है कि वह राजद में मौजूद वंशवाद की राजनीति और तेजस्वी यादव के नेतृत्व से परेशान हो गए थे। राजद से इस्तीफा देने वाले पार्षदों में दिलीप राय, राधा चरण सेठ, संजय प्रसाद, कमरे आलन, और रणविजय सिंह का नाम शामिल हैं। इन सभी विधान पार्षदों ने विधान परिषद के कार्यकारी सभापति को इस बाबत चिठ्टी भी सौंप दी है। वहीं, दूसरी ओर जदयू की रीना यादव के पत्र के बाद विधान परिषद ने राजद से आए ज..

read more

पेड़ों की कटाई पर शिवसेना का यू-टर्न: मेट्रो शेड का किया था विरोध, अब कोस्टल रोड प्रोजेक्ट के लिए कहा – ‘अनिवार्य है काटना’

--- पेड़ों की कटाई पर शिवसेना का यू-टर्न: मेट्रो शेड का किया था विरोध, अब कोस्टल रोड प्रोजेक्ट के लिए कहा – ‘अनिवार्य है काटना’ लेख आप ऑपइंडिया वेबसाइट पे पढ़ सकते हैं --- कोस्टल रोड प्रोजेक्ट, बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) की एक बड़ी और महत्वाकांक्षी परियोजना है। लेकिन अब इस परियोजना के आड़े लगभग 600 पेड़ आ रहे हैं, जिसमें से 140 पेड़ों को बीएमसी ने काटने का निर्णय लिया है और बाकी के पेड़ों का पुनर्रोपण किया जाएगा। इन पेड़ों को प्रिंसेस स्ट्रीट फ्लाइओवर से लेकर वर्ली के बीच 9 किलोमीट कोस्टल रोड प्रोजेक्ट के तहत काटा जाएगा। परियोजना के लिए 140 पेड़ों को काटने के खिलाफ संबंधित नागरिकों द्वारा उठाए गए 176 सुझावों और आपत्तियों का जवाब देते हुए नागरिक निकाय ने अपने बचाव में तर्क दिया है कि इस परियोजना से प्रदूषण और बाढ़ में कमी आएगी एवं हरियाली में वृद्धि होगी। परियोजना की शुरुआत में मुंबई के उपनगरों को जोड़ने और शहर की सड़कों को जाम करने का प्रस्ताव दिया गया था। प्रिंसेस स्ट्रीट फ्लाईओवर और वर्ली के बीच कोस्टल रोड प्रोजेक्ट के फेज -I के दौरान लगभग 90 हेक्टेयर जमीन को फिर से प्राप्त किया ज..

read more

‘आगरा में पिछले 48 घंटे में 28 मरे’: प्रियंका ने योगी सरकार को बदनाम करने के लिए फैलाया झूठ, प्रशासन ने खोली पोल

--- ‘आगरा में पिछले 48 घंटे में 28 मरे’: प्रियंका ने योगी सरकार को बदनाम करने के लिए फैलाया झूठ, प्रशासन ने खोली पोल लेख आप ऑपइंडिया वेबसाइट पे पढ़ सकते हैं --- कॉन्ग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गाँधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार को बदनाम करने के लिए कोरोना वायरस से हुई मौतों को लेकर झूठ फैलाया। उन्होंने एक ख़बर का हवाला देते हुए ट्वीट किया कि उत्तर प्रदेश में सिर्फ़ 48 घंटे में भर्ती हुए 28 कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की मौत हो गई है। प्रियंका गाँधी ने दावा किया कि सरकार की नो टेस्ट-नो कोरोना की नीति पर सवाल उठे थे लेकिन सरकार ने उसका कोई जवाब नहीं दिया। उन्होंने कहा कि अगर उत्तर प्रदेश की सरकार सच दबाकर कोरोना मामले में इसी तरह लगातार लापरवाही करती रही तो बहुत घातक होने वाला है। राहुल गाँधी की बहन ने लिखा कि यूपी सरकार के लिए कितनी शर्म की बात है कि इसी मॉडल का झूठा प्रचार करके सच दबाने की कोशिश की गई। हालाँकि, प्रियंका गाँधी ने जो दावा पेश किया वो झूठा था और सन्दर्भ से हट कर था और प्रशासन ने ही उनके दावे को नकार दिया। आगरा के डीएम ने अपने आधिकारिक ट्व..

read more

‘आगरा में पिछले 48 घंटे में 28 मरे’: प्रियंका ने योगी सरकार को बदनाम करने के लिए फैलाया झूठ, प्रशासन ने खोली पोल

--- ‘आगरा में पिछले 48 घंटे में 28 मरे’: प्रियंका ने योगी सरकार को बदनाम करने के लिए फैलाया झूठ, प्रशासन ने खोली पोल लेख आप ऑपइंडिया वेबसाइट पे पढ़ सकते हैं --- कॉन्ग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गाँधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार को बदनाम करने के लिए कोरोना वायरस से हुई मौतों को लेकर झूठ फैलाया। उन्होंने एक ख़बर का हवाला देते हुए ट्वीट किया कि उत्तर प्रदेश में सिर्फ़ 48 घंटे में भर्ती हुए 28 कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की मौत हो गई है। प्रियंका गाँधी ने दावा किया कि सरकार की नो टेस्ट-नो कोरोना की नीति पर सवाल उठे थे लेकिन सरकार ने उसका कोई जवाब नहीं दिया। उन्होंने कहा कि अगर उत्तर प्रदेश की सरकार सच दबाकर कोरोना मामले में इसी तरह लगातार लापरवाही करती रही तो बहुत घातक होने वाला है। राहुल गाँधी की बहन ने लिखा कि यूपी सरकार के लिए कितनी शर्म की बात है कि इसी मॉडल का झूठा प्रचार करके सच दबाने की कोशिश की गई। हालाँकि, प्रियंका गाँधी ने जो दावा पेश किया वो झूठा था और सन्दर्भ से हट कर था और प्रशासन ने ही उनके दावे को नकार दिया। आगरा के डीएम ने अपने आधिकारिक ट्व..

read more
1 2 24
Page 1 of 24